Home समाचार पीएम मोदी ने की देश में शांति और सौहार्द बनाये रखने की...

पीएम मोदी ने की देश में शांति और सौहार्द बनाये रखने की अपील, परमहंस और इकबाल ने की तारीफ

102
SHARE

अयोध्या के राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पूरा देश इंतजार कर रहा है। फैसले की संवेदनशीलता को देखते हुए पूरे देश में पुलिस अधिकारियों को कानून-व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी मंत्रियों, सांसदों और विधायकों को सख्त हिदायत दी है कि वे फैसला आने से पूर्व अयोध्या पर फिजूल की बयानबाजी करने से बचें। प्रधानमंत्री मोदी के इस नसीहत का राम मन्दिर आंदोलन के प्रमुख संत स्वामी परमहंस और बाबरी पक्षकार इकबाल अंसारी ने तारीफ की है।

अयोध्या के संत स्वामी परमहंस ने कहा कि मोदीजी ने जो संयम बरतने की बात कही है, वह सही है, क्योंकि फैसले से पहले किसी प्रकार की प्रतिक्रिया से समाज पर दुष्प्रभाव पड़ता है। बयानबाजी से आपसी सौहार्द बिगड़ता है।

स्वामी परमहंस ने कहा कि दोनों समुदायों को आने वाले फैसले का इंतजार करना चाहिए और सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। बीजेपी जब देश की सबसे छोटी पार्टी थी, उसने जनता से वादा किया था कि राम लला हम आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे।

बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि मोदीजी ने जो कहा है वह एकदम सही है और वे जो कर रहे है वह भी ठीक है। कांग्रेस के राज के दौरान अयोध्या में बहुत कुछ हुआ। अयोध्या का ताला खोला गया, राम लला की मूर्ति रखी गई। मस्जिद का ढांचा भी ध्वस्त किया गया। अयोध्या में जो हुआ कांग्रेस के कार्यकाल में हुआ।

हिन्दुवादी नेता संतोष दुबे ने भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बात का समर्थन करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक हम सभी को शांति व्यवस्था बनाए रखनी चाहिए।

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले पीएम मोदी ने सभी सांसदों और मंत्रियों को अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में रहने को कहा है। इसके साथ ही फैसले के कुछ दिनों बाद तक शांति-व्यवस्था बनाए रखने में मदद करने की अपील की है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश और खासतौर पर अयोध्या में सुरक्षा तैनाती के लिए अर्द्धसैनिक बलों के 4,000 जवानों को भेजा है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एक आम परामर्श जारी किया गया है जिसमें उन्हें सभी संवेदनशील इलाकों में पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात करने को कहा गया है। साथ ही यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि देश में कहीं भी, किसी भी स्थान पर कोई अप्रिय घटना नहीं हो।

Leave a Reply