Home विपक्ष विशेष आखिर कांग्रेस की वजह से ही तो चीन बना भारत की राह...

आखिर कांग्रेस की वजह से ही तो चीन बना भारत की राह का रोड़ा!

744
SHARE

पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को इंटरनेशनल टेररिस्ट घोषित करने में चीन ने फिर से अड़ंगा लगा दिया है। बीते दस वर्षों में यह चौथा मौका है जब चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद यानि यूएनएससी में मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव रोकने के लिए वीटो पॉवर का इस्तेमाल किया है। आखिर संयुक्त राष्ट्र में भारत की इस हार की वजह क्या है। आज संयुक्त राष्ट्र में जहां अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन जैसे अहम देश भारत की ओर देख रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी की बातों को नजरंदाज करने की हिम्मत किसी देश में नहीं है। तो फिर चीन क्यों भारत की राह का रोड़ा बन गया है।

आइए आपको इसकी पांच वजहें बताते हैं-

पहला कारण- नेहरू के कहने पर चीन को बनाया गया स्थाई सदस्य
चीन के इस रवैये के पीछे कांग्रेस पार्टी और देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू हैं। 1953 में अमेरिका ने भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की सीट ऑफर की थी, लेकिन तब नेहरू ने उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और यह सीट चीन को देने का सुझाव दिया था। अगर तब नेहरू ने ऐसा नहीं किया होता तो भारत 1953 में ही यूएनएससी का स्थाई सदस्य बन गया होता।

दूसरा कारण- नेहरू दिया हिंदी-चीनी भाई-भाई का नारा
इतना ही नहीं नेहरू ने ही हिंदी-चीनी भाई-भाई का नारा दिया था। चीन ने इसका खूब फायदा उठाया और भारत के लचर रवैया को अपने हित में इस्तेमाल किया। अब वो पाकिस्तान-चीनी भाई-भाई का नारा बुलंद कर रहा है। यानि चीन को इसकी ताकत भी नेहरू की नीतियों से ही मिली है।

तीसरा कारण- कांग्रेस सरकारों ने पाक से उलझने में वक्त बर्बाद किया
55 वर्षों के कांग्रेस शासन में पाकिस्तान के साथ उलझने में ही वक्त बर्बाद किया गया। तब चीन इतनी बड़ी शक्ति नहीं था। लेकिन किसी भी कांग्रेसी शासक ने चीन से निपटने की नीतियों पर ध्यान नहीं दिया।

चौथा कारण- कांग्रेस का चीन के प्रति नरम रवैया
दरअसल, कांग्रेसी नेताओं का चीन के प्रति हमेशा नरम रवैया रहा है। बीते पांच वर्षों में भी यही देखने को मिला है। डोकलाम समेत तमाम विवादों पर मोदी सरकार ने सख्त रवैया अपनाया और चीन को झुकने पर मजबूर किया। लेकिन समानान्तर विदेश नीति चलाने के आदी हो चुके कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ऐसे मौके पर भी चीनी नेताओं के साथ गलबहियां करते रहे और भारत के ही खिलाफ रणनीति बनाते दिखाई दिए।

पांचवा कारण- मोदी को हराने के लिए कांग्रेस ने पाकिस्तान से हाथ मिलाया
कांग्रेस पार्टी आज किसी भी सूरत में प्रधानमंत्री मोदी को हराना चाहती है। और पीएम मोदी के सख्त कदमों से थर-थर कांप रहा पाकिस्तान भी मोदी सरकार को हराना में जुटा है। और ये दोनों चीन की मदद से भारत के खिलाफ माहौल बनाने में जुटे हैं।

Leave a Reply