Home योग विशेष योग दिवस विशेष: संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्ताव से...

योग दिवस विशेष: संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्ताव से क्यों आश्चर्यचकित रह गई थी देश-दुनिया

469
SHARE

भारत सहित पूरा विश्व 21 जून को चौथा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की तैयारियों में जोरशोर से जुटा हुआ है। हम सब जानते हैं कि योग दिवस के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबसे पहली बार 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रस्ताव रखा था। लेकिन इसमें एक दिलचस्प जानकारी भी है जो शायद ज्यादातर लोगों को पता नहीं हो।

प्रधानमंत्री की अपील से सब रह गए थे चकित
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के मंच पर जब योग दिवस को लेकर अपनी बात रखी तो इसकी जानकारी भारत के स्थायी राजदूत अशोक मुखर्जी तक को नहीं थी। प्रधानमंत्री की यह अपील सभागार में मौजूद भारतीय राजदूत के साथ ही अन्य अधिकारियों के लिए एक सरप्राइज की तरह थी। दरअसल किसी को इस बात की कोई जानकारी नहीं थी कि प्रधानमंत्री मोदी ऐसी कोई घोषणा करने जा रहे हैं।। संयुक्त राष्ट्र के अपने पहले संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा था:
”योग हमारी पुरातन पारंपरिक अमूल्‍य देन है। योग मन व शरीर, विचार व कर्म, संयम व उपलब्धि की एकात्‍मकता का तथा मानव व प्रकृति के बीच सामंजस्‍य का मूर्त रूप है। यह स्‍वास्‍थ्‍य व कल्‍याण का समग्र दृष्टिकोण है। योग केवल व्‍यायाम भर न होकर अपने आप से तथा विश्व व प्रकृति के साथ तादात्म्‍य को प्राप्त करने का माध्यम है। यह हमारी जीवन शैली में परिवर्तन लाकर तथा हममें जागरूकता उत्पन्न करके जलवायु परिवर्तन से लड़ने में सहायक हो सकता है। आइए हम एक ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ को आरंभ करने की दिशा में कार्य करें।” 

प्रधानमंत्री की अपील पर फटाफट बना रोडमैप
योग को लेकर प्रधानमंत्री की इस अपील पर जमकर तालियां बजीं, लेकिन किसी को अंदाजा नहीं था कि अचानक आई इस घोषणा को आगे बढ़ाने के लिए रोडमैप क्या होगा। प्रधानमंत्री की अपील के बाद संबंधित अधिकारी सक्रिय हो चुके थे क्योंकि वे जानते थे कि प्रधानमंत्री यूं ही इतना बड़ा एलान नहीं करते, उनके पास खुद भी पूरी योजना का एक खाका होता है। प्रधानमंत्री मोदी के मिशन को पूरा करने में राजनयिक और प्रशासनिक स्तर पर हर तरह के प्रयास शुरू किए जा चुके थे। अगले डेढ़ महीने के भीतर ही अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का मंच सफलतापूर्वक तैयार कर लिया गया।

LEAVE A REPLY