Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में विश्व मंच पर भारत की भूमिका बेहद...

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में विश्व मंच पर भारत की भूमिका बेहद अहम: ओबामा

112
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व मंच पर बेहद ताकतवर बनकर उभरे भारत का अमेरिका हर तरह से मुरीद हो गया है। शुक्रवार को इसकी बानगी एक बार फिर दिखी अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे पर। ओबामा ने प्रधानमंत्री मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कहा है कि उनके पास भारत को तरक्की के मुकाम पर ले जाने वाला विजन है। दिल्ली में जब दोनों नेता एक बार फिर मिले तो इनकी चर्चित दोस्ती की यादें ताजा हो उठीं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस मौके से जुड़े अपने एक ट्वीट में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति के नेतृत्व में ओबामा फाउंडेशन की पहल के साथ ही भारत-अमेरिका सामरिक साझीदारी को और मजबूत करने के उनके दृष्टिकोण की काफी प्रशंसा की है।

बेहद शानदार काम कर रहे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  से मिलने से पहले ओबामा ने एक कार्यक्रम में कहा कि मौजूदा नेतृत्व में भारत विकास की नई-नई ऊंचाइयों को छूने में लगा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी लोगों को गरीबी से निकालना चाहते हैं और भारत अपने लाखों लोगों को गरीबी से बाहर निकालने में सफल भी रहा है। ओबामा ने कहा कि पीएम मोदी गांव-गांव बिजली पहुंचाना चाहते हैं, गरीबों को घर देना चाहते हैं, यह सब देखना शानदार है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ब्यूरोक्रेसी की कमियों को दूर कर उसे आधुनिक जरूरतों के अनुरूप ढालने में लगे हुए हैं जो कि काफी महत्वपूर्ण है।

विश्व मंच पर भारत निभा रहा बड़ी भूमिका

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व से ओबामा किस कदर प्रभावित रहे हैं यह इसी से पता चलता है कि उन्होंने इस कार्यक्रम में बिना किसी लाग लपेट के कहा कि पीएम मोदी उन्हें पसंद हैं। यहां ओबामा ने आतंकवाद, लोकतंत्र, आर्थिक सुधार और वैश्विकरण ऐसे कई मुद्दों पर अपनी बातें रखीं। ये सारे वो विषय हैं जिनमें देश की मौजूदा सरकार ने बड़ी-बड़ी पहल की है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद हो या जलवायु परिवर्तन का मामला, ऐसी  विश्वव्यापी चुनौतियों से निपटने में हम तभी सक्षम होंगे जब विश्व मंच पर भारत एक बड़ी भूमिका निभाए।

पेरिस जलवायु समझौते में पीएम मोदी की बड़ी भूमिका

ओबामा ने पेरिस जलवायु समझौते को आगे बढ़ाने के लिए भी पीएम मोदी की सराहना की। वहीं पेरिस समझौते से अमेरिका को बाहर रखने के डोनाल्ड ट्रंप के फैसले की आलोचना की। उन्होंने कहा : ‘’पीएम मोदी और मैंने पेरिस समझौते के लिए कड़ी मेहनत की जिस पर मौजूदा अमेरिकी नेतृत्व ने विराम लगाने वाला कदम उठाया। लेकिन अच्छी बात यह है कि इसके बावजूद यह डील आगे बढ़ रही है।‘’

ट्रंप शासनकाल में भी मजबूत हैं आपसी रिश्ते

ओबामा तीसरी बार भारत यात्रा पर आए। इससे पहले वो अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में दो बार भारत आ चुके हैं। वैसे अलग-अलग मौकों पर पीएम मोदी और ओबामा के बीच अब तक 10 मुलाकातें हो चुकी हैं। 2015 के गणतंत्र दिवस समारोह में वो मुख्य अतिथि के रूप में भारत आए थे। उस दौरे पर वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे जिसमें दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्र के नेताओं ने अलग-अलग विषयों पर जनता के ढेर सारे सवालों के जवाब दिये थे। भारत के लिए अच्छी बात यह है कि ओबामा-मोदी के कार्यकाल से दोनों देशों के बीच रिश्तों में आई मजबूती अमेरिका में ट्रंप शासनकाल के दौरान भी कायम है।

LEAVE A REPLY