Home समाचार एनडीटीवी की एजेंडा पत्रकार की इंटरनेशनल बेइज्जती!

एनडीटीवी की एजेंडा पत्रकार की इंटरनेशनल बेइज्जती!

241
SHARE

अमेरिकी के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने एक भरी सभा में एनडीटीवी की पत्रकार निधि राजदान की बोलती बंद कर दी। दरअसल नई दिल्ली में ओबामा फाउंडेशन की ओर से युवाओं के लिए टाउन हॉल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने युवाओं को संबोधित किया और उनके सवालों के जवाब भी दिए, लेकिन उन्होंने निधि राजदान के सवाल को सुने बिना ही जवाब देने से इनकार कर दिया। कार्यक्रम में निधि राजदान ने जब अपना परिचय देकर सवाल पूछने की कोशिश की तो ओबामा ने साफ कहा कि यह युवाओं का कार्यक्रम है और वे उनके सवालों का ही जवाब देंगे।

बराक ओबामा ने निधि से साफ-साफ कहा कि, ‘आप बैठ जाइए। आप सवाल नहीं पूछ सकतीं क्योंकि यह युवाओं का कार्यक्रम है। आप उन्हें मौका दीजिए। आप उन्हें सवाल पूछने दीजिए। आप बैठ जाइए।’ एजेंडा पत्रकार निधि राजदान ने ओबामा से कई बार सवाल सुन लेने की गुजारिश की, लेकिन उन्होंने साफ मना कर दिया।

निधि ने ओबामा के राष्ट्रपति कहकर भी संबोधित किया, लेकिन उसका कोई असर नहीं हुआ। देखिए वीडियो-

सोशल मीडिया पर लोग इसे इस एजेंडा पत्रकार की इंटरनेशनल बेइज्जती तक बता रहे हैं।

 

निधि राजदान ने तोड़ी पत्रकारिता की मर्यादा
इसके पहले एनडीटीवी पर केरल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा सार्वजनिक रूप से गोहत्या पर डिबेट जारी थी। इसमें कांग्रेस की शर्मिष्ठा मुखर्जी और भाजपा के संबित पात्रा के अलावा कुछ और मेहमान थे। इस मुद्दे पर पर सभी मेहमानों को बोलने का बराबर मौका दिया जा रहा था, लेकिन भाजपा से चिढ़ के कारण संबित को बोलने ही नहीं दिया जा रहा था। इतना ही नहीं एंकर निधि राजदान बार-बार गाय को बैल बताने पर तुली थी। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को क्लीन चिट देने पर तुली थीं। जाहिर है संबित पात्रा को ये सही नहीं लगा और बोलने का मौका देने की अपील की, लेकिन एंकर ने संबित पात्रा को बार-बार इंटरप्ट किया और दूसरे लोगों को मौका देती रहीं।

आइए देखते हैं क्या हुआ –

इस पूरे डिबेट में ये साफ है कि निधि राजदान पत्रकार कम कांग्रेस की कार्यकर्ता-नेता ज्यादा लग रहीं थी। संबित पात्रा ने साफ-साफ कई बार कहा कि – मैं दूसरों चैनलों पर भी जाता हूं और वहां मैं किसी को डिस्टर्ब नहीं करता हूं, लेकिन यहां मुझे करना पड़ रहा है। संबित ने कहा कि एनडीटीवी का झुकाव कांग्रेस के प्रति है और वह एक एजेंडा चला रहा है।

इसी बात से एंकर ने अपने मंच का दुरुपयोग किया और संबित को शो छोड़कर जाने को कहने लगीं, लेकिन संबित पात्रा ने मना करते हुए कहा कि मैं एनडीटीवी के एजेंडे को एक्सपोज करके रहूंगा। बहरहाल निधि राजदान फिर भी नहीं मानी और उन्होंने देश के संविधान से मिली स्वतंत्रता का नाजायज फायदा उठाया और संबित पात्रा को शो से हटाने के लिए ब्रेक ले लिया।

कौन है निधि राजदान?
बहरहाल जिस पत्रकार निधि राजदान ने ऐसी ओछी हरकत की है उसका असल चेहरा भी आपको दिखाते हैं। दरअसल ये वही निधि राजदान है जो हंसते-खेलते परिवार को तोड़ने की आरोपी हैं। निधि राजदान एक हाईप्रोफाइल मीडिया एंकर हैं और तलाकशुदा होने के बाद भी वे लिव इन रिलेशनशिप में रही हैं। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की दोस्त कही जाने वाली निधि के करीब आने की चर्चाओं के बाद उमर अब्दुल्ला और उनकी पत्नी पायल नाथ की दूरिया इतनी बढ़ी कि तलाक तक हो गई।

उमर और पायल का तलाक आपसी सहमति से हुआ लेकिन दिल्ली की सोशल सर्किल में ये चर्चा आम है कि उमर जब भी दिल्ली आते निधि राजदान से मिलते उनके साथ वक्त बिताते लेकिन अपनी पत्नी पायल के पास नहीं जाते थे। 

देशविरोधियों के साथ खड़ी रहती हैं राजदान!
आपको बता दें कि ये वही निधि राजदान हैं जो देश विरोधी किसी भी हरकत के साथ खड़ी हो जाती हैं और देश को शर्मसार करने की कोशिश करती हैं। इससे पहले जब 2015 में जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाए गए थे तो कोर्ट में पेशी के वक्त वकीलों ने आरोपियों की पिटाई कर दी थी। उस वक्त भी निधि राजदान ने संबित पात्रा के साथ ऐसा ही बर्ताव किया था, लेकिन संबित ने करारा जवाब दिया था।

LEAVE A REPLY