Home नरेंद्र मोदी विशेष पीएम मोदी 70 साल में भारत के सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री- सर्वे

पीएम मोदी 70 साल में भारत के सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री- सर्वे

169
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के अबतक के सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री हैं। न्यूज मैगजीन बिजनेस वर्ल्ड के लिये कराये गए सर्वे में देशभर के कॉर्पोरेट लीडर्स की राय ली गई है। सबसे बड़ी बात ये है कि पीएम मोदी के कार्यकाल में देश में जो माहौल बना है उससे अगले 30 साल के लिये कारोबार जगत को एक आशावादी और स्पष्ट विजन वाला वातावरण मिल गया है।

पीएम मोदी जितना महत्वपूर्ण कोई नहीं
देश की स्वतंत्रता की 70वीं वर्षगांठ पर न्यूज मैगजीन बिजनेस वर्ल्ड के लिये कराये गये सर्वे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहमियत अद्वितीय बताई गई है। BW के लिये Traverse Strategy Consultants की ओर से कराये गये इस सर्वे में देशभर के 440 सीईओ और कंपनियों के डायरेक्टर की राय ली गई है। इस सर्वे में देशभर के 12 शहरों में मौजूद विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रही कंपनियों को शामिल किया गया है। इस सर्वे के मुताबिक देश की आजादी के 70 साल के इतिहास में नरेंद्र मोदी से महत्वपूर्ण कोई प्रधानमंत्री नहीं हुआ। सर्वे में पीएम मोदी के बाद पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को दूसरा और राजीव गांधी को तीसरा सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री बताया गया है।

70 साल में सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री:

स्थान नाम
पहला नरेंद्र मोदी
दूसरा अटल बिहारी वाजपेयी
तीसरा राजीव गांधी

(BW Corporate India Survey)

वर्तमान में सबसे अहम राजनीतिक व्यक्तित्व
इस सर्वे के मुताबिक भारत की वर्तमान स्थितियों में प्रधानमंत्री मोदी सबसे महत्वपूर्ण राजनीतिक व्यक्ति हैं। इस लिस्ट में पीएम मोदी के बाद केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का स्थान है। इस सर्वे का आधार सरकारी की नीतियां और रणनीतियां हैं जिससे उद्योंगों के कारोबार और वाणिज्य पर असर पड़ता है। इसके मुताबिक वर्तमान माहौल में देश को जो आशावादी और स्पष्ट विजन का वातावरण उपलब्ध कराया गया है उससे कॉर्पोरेट जगत के लिये आने वाले 30 साल की बुनियाद मजबूत हो चुकी है।

कॉरपोरेट लीडर्स ने और क्या कहा ?

हाल के वर्षों में सबसे प्रभावकारी सरकारी कार्यक्रम
(5 से 1 के स्केल पर)

कार्यक्रम अंक प्रभाव
Digital India 4.20 बहुत प्रभावी
Startup India 3.80 प्रभावी
Jan-Dhan Yojana 3.60 प्रभावी
Swachh Bharat Abhiyan 3.60 प्रभावी
Demonetisation 3.60 प्रभावी

(BW Corporate India Survey)

व्यापार परिदृष्य में हुए समग्र बदलाव को आप कितना नंबर देंगे ?
(5 से 1 के स्केल पर)

परिणाम अंक कितने लोगों ने कहा ?
उत्कृष्ट 5 71.82%
बहुत अच्छा 4 14.09%
अच्छा 3 10 %
ठीक 2 2.05 %
खराब 1 2.05 %

(BW Corporate India Survey)

सबसे महत्वपूर्ण ही नहीं सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री भी हैं पीएम मोदी 

ये कोई पहला सर्वे नहीं है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहमियत और लोकप्रियता बयां करता है। इससे पहले टाइम्स नाउ-वोटर्समूड रिसर्च (वीएमआर) के सर्वे में पीएम मोदी को देश का अबतक का सबसे अच्छा प्रधानमंत्री बताया जा चुका है। हिंदी न्यूज पोर्टल जनसत्ता में छपे समाचार के अनुसार लोकप्रियता में पीएम मोदी के टक्कर में आज कोई नेता आसपास भी नहीं है। टाइम्स नाउ-वोटर्समूड रिसर्च (वीएमआर) के सर्वे में लोकप्रियता के मामले में 60 प्रतिशत वोट पीएम मोदी को मिले थे। सर्वे की सबसे बड़ी बात यही है कि इसमें लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी को देश में अबतक का सबसे अच्छा पीएम चुना है।

2019 में भी बनेगी मोदी सरकार- सर्वे
यही नहीं एक और सर्वे में दावा किया जा चुका है कि 2019 में भी पीएम मोदी की अगुवाई में एनडीए की ही सरकार बनेगी और श्री नरेंद्र मोदी ही प्रधानमंत्री बनेंगे। Exchange4Media के अनुसार Businessworld ने तब भी दो सर्वे कराए थे- mood of the nation और corporate India survey. इसके अनुसार भारत के 80 प्रतिशत जनता और 80 प्रतिशत कॉर्पोरेट जगत के लोग मानते हैं कि 2019 में भी नरेंद्र मोदी की अगुवाई में ही सरकार बनेगी।

पीएम मोदी के काम से खुश लोग
यही नहीं कुछ समय पहले के सर्वे में भी देश के 76 प्रतिशत लोग और कॉर्पोरेट इंडिया के 83% लोग मोदी सरकार के कामकाज को अच्छा बता चुके हैं। आम जनता मोदी सरकार के जिन कार्यों से बेहद खुश दिखी उसमें- नोटबंदी, बिजली में सुधार, सर्जिकल स्ट्राइक, जीएसटी, भ्रष्टाचार पर नकेल, डायरेक्ट सब्सिडी ट्रांसफर जैसे मसले शामिल रहे। वहीं कॉर्पोरेट जगत के लोग इन सारी चीजों के अलावा सरकारी कामकाज में हुई आसानी से बहुत ही संतुष्ट दिखे।

जाहिर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता और अहमियत दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है। इसका सिर्फ एक कारण है देश की जनता ने पीएम मोदी को जिस उम्मीद के साथ भारी बहुमत से सत्ता की जिम्मेदारी सौंपी थी, उसे पूरा करने के लिये पीएम मोदी ने कोई कसर नहीं छोड़ी है। 

LEAVE A REPLY