Home समाचार ग्लोबल वार्मिंग पर मोदी सरकार करेगी पहल, दिल्ली से गुजरात तक बनेगी...

ग्लोबल वार्मिंग पर मोदी सरकार करेगी पहल, दिल्ली से गुजरात तक बनेगी ‘ग्रीन वॉल ऑफ इंडिया’

202
SHARE

ग्लोबल वार्मिंग को लेकर पीएम मोदी हमेशा सभी मंचों से दुनिया के सामने अपने विचार रखने के साथ-साथ इसके प्रति लोगों को जागरूक किया करते हैं। इसी दिशा में पीएम मोदी ने हाल ही में ‘सिंगल यूज प्लास्टिक’ का यूज ना करने के लिए जनता से अपील भी की थी, जिसके बाद लोगों ने बड़े स्तर पर पॉलीथिन के यूज पर विराम भी लगा दिया। ग्लोबल वार्मिंग के भयानक रूप को ही देखते हुए मोदी सरकार ने अपने एक बड़े फैसले के तहत हरित क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली से गुजरात तक 1400 किलोमीटर लंबी ग्रीन वॉल बनाने का फैसला किया है।

क्या है ‘ग्रीन वॉल ऑफ इंडिया’

मोदी सरकार, अफ्रीका में सेनेगल से जिबूती तक बनी हरित पट्टी की तरह ही दिल्ली से गुजरात तक ‘ग्रीन वॉल ऑफ इंडिया’ बनाना चाहती है। इस ग्रीन वॉल की लंबाई 1400 किलोमीटर होगी, जबकि इसकी चौड़ाई 5 किलोमीटर चौड़ी होगी। सरकार का यह विचार अभी अपने शुरुआती दौर में है, लेकिन कई मंत्रालयों के अधिकारी इसे लेकर खासे उत्साहित हैं। यदि इस प्रोजेक्ट को मंजूरी मिलती है तो यह भारत में बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए भविष्य में भी एक मिसाल की तरह होगा।

ग्रीन वॉल से होगा ये लाभ

इस ग्रीन वॉल का निर्माण गुजरात के पोरबंदर से लेकर हरियाणा के पानीपत तक इसका किया जाएगा, जिससे लगातार घट रहे वन क्षेत्रों में भी बढ़त होगी। इसके साथ ही गुजरात, राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली में फैली अरावली की पहाड़ियों पर घटते जंगलों के संकट को भी दूर किया जा पाएगा।

2030 का है लक्ष्य

अफ्रीका की ‘ग्रेट ग्रीन वॉल’ करीब एक दशक से बन रही है, जिसमें कई देशों की भागीदारी होने और कार्यप्रणाली के चलते अभी ये पूरी नहीं बन पाई है। वहीं मोदी सरकार ‘ग्रीन वॉल ऑफ इंडिया’ को 2030 तक प्राथमिकता से पूरा करना चाहती है। इस प्रोजेक्ट के जरिए दो करोड़ 60 लाख हेक्टेयर भूमि को प्रदूषण से आजाद कराने का लक्ष्य है।

Leave a Reply