Home समाचार मोदी सरकार के ‘भारतक्राफ्ट’ से 64 करोड़ लोग होंगे मालामाल, मिलेंगे 5...

मोदी सरकार के ‘भारतक्राफ्ट’ से 64 करोड़ लोग होंगे मालामाल, मिलेंगे 5 करोड़ नए जॉब्स

181
SHARE

मोदी सरकार ई-कॉमर्स के क्षेत्र में बड़ा कदम उठाने जा रही है, सरकार अलीबाबा और अमेजन की तरह ही भारतक्राफ्ट लॉन्च करने की योजना बना रही है। यह प्लेटफॉर्म लघु व मध्यम उद्यमियों (MSME) को ऑनलाइन बाज़ार मुहैया कराएगा, जिससे 2 से 3 सालों में करीब 10 करोड़ रुपए के कारोबार के होने की उम्मीद है। बड़ी-बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों की ऑनलाइन बाज़ार में भारी पैठ के कारण एमएसएमई उद्योगों से जुड़े उद्यमियों को कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में भारतीय एमएसएमई उद्योगों के लिए भारतक्राफ्ट एक वरदान साबित होगा।

जून महीने से चल रही थी योजना

मोदी सरकार द्वारा जून महीने से ही एमएसएमई उद्यमियों के लिए इस तरह का कोई ऑनलाइन पोर्टल खोलने की योजना पर काम कर रही थी। एमएसएमई सचिव अरुण कुमार पांडा ने कहा था कि इस संबंध में विश्व बैंक, एशियन डेवलपमेंट बैंक  और Kreditanstalt für Wiederaufbau डेवलपमेंट बैंक के साथ बातचीत हुई है। जिससे भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित एमएसएमई प्रोडक्ट ऑनलाइन पोर्टल में वह निवेश कर सकें।

आपको बता दें कि देश में एमएसएमई उद्योगों की संख्या करीब 64 करोड़ है। ऐसे में मोदी सरकार की ये योजना लगभग 64 करोड़ एसएमई उद्यमियों को मालामाल बना सकती है।

10 लाख करोड़ रुपए का राजस्व आने की उम्मीद

केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने एमएसएमई उद्यमियों के लिए केन्द्र सरकार का भारतक्राफ्ट पोर्टल पेश करने की घोषणा कर दी है। इस पोर्टल से  से दो से तीन वर्षों में ही लगभग 10 लाख करोड़ रुपए का राजस्व आने की उम्मीद की जा रही है।

5 सालों में 5 करोड़ रोजगार देने की क्षमता

गडकरी ने कहा कि एमएसएमई सेक्टर में अगले 5 सालों में 5 करोड़ अतिरिक्त रोजगार देने की क्षमता है। इसके साथ ही सरकार अगले 5 सालों में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में एमएसएमई को 50 प्रतिशत तक बढ़ा रही है। उन्होंने बताया कि एमएसएमई के लिए पेमेंट हमेशा से समस्या रहा है क्योंकि सरकार और पब्लिक सेक्टर की कंपनियों छोटी एवं मझोली कंपनियों का बकाया चुकाने में देरी करती हैं।

Leave a Reply