Home विचार मोदी सरकार में निर्धारित समय में पूरा हो रहे ‘लटके’ हुए प्रोजेक्ट्स

मोदी सरकार में निर्धारित समय में पूरा हो रहे ‘लटके’ हुए प्रोजेक्ट्स

मोदी सरकार में समय से पहले पूरी हो रही अधूरी योजनाएं

173
SHARE

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने 3 अगस्त को संसद भवन परिसर में पांच करोड़वां एलपीजी कनेक्शन दिल्ली निवासी तकदीरन को सौंपा। इसी के साथ यह बात भी सामने आई कि मोदी सरकार ने पांच करोड़ गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य निर्धारित समय से आठ महीने पूर्व ही प्राप्त कर लिया है।

गौरतलब है कि गरीब महिलाओं को साफ ईंधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से शुरू की गई प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, एक मई 2016 को लॉन्च हुई थी। इसके तहत मार्च 2019 तक पांच करोड़ लोगों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन, चूल्हा और रेगुलेटर देने का लक्ष्य तय किया था, जिसे सरकार ने 03 अगस्त, 2018 को ही पूरा कर लिया। दरअसल उज्ज्वला योजना की उपलब्धि इस बात का जीता जागता उदाहरण है कि मोदी सरकार न सिर्फ लक्ष्य तय करती है बल्कि उसे समयबद्ध पूरा भी करती है।

मधेपुरा, छपरा रेल कारखाना को शुरू किया जाना हो या कर्नाटक में बिदार-कालबुर्गी रेलवे ट्रैक का लोकार्पण। गोरखपुर, बरौनी जैसी पांच जगहों पर खाद कारखानों के जीर्णद्धार कार्यक्रम की शुरुआत होना हो या फिर पूर्वोत्तर में 73 रणनीतिक सड़कों का निर्माण, या फिर साठ सालों से अटके पड़े नर्मदा डैम के काम को पूरा करना हो… ऐसे कई प्रोजेक्ट्स सालों से या तो बंद पड़े थे, या इसकी गति बेहद धीमी थी। मोदी सरकार ने ऐसे प्रोजेक्ट्स को बंद नहीं किया बल्कि इसे पूरा करने के लिए समय सीमा निर्धारित की और उसे पूरा किया। जाहिर है प्रधानमंत्री मोदी ने लटकाने, अटकाने और भटकाने की कार्य संस्कृति को पूरी तरह बदल कर रख दिया है।

कांग्रेस ने लटकाया, मोदी सरकार ने पूरा करवाया

बाण सागर

14 मई, 1978 को शुरू कई गई परियोजना को 39  साल बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पूरा करवाया

नर्मदा डैम

5 अप्रैल, 1951 को रखी गई इस परियोजना को पीएम मोदी ने 17 सितंबर, 2017 को देश को सौंपा

सड़क परियोजना

पूर्वोत्तर में 102 रणनीतिक सड़कों के निर्माण में आई तेजी, 22 सड़कें बनकर तैयार

भूपेन हजारिका पुल

2003 से प्रस्तावित ढोला सादिया पुल का निर्माण पीएम मोदी ने 2017 में पूरा करवाया

गोरखपुर फर्टिलाइजर

26 वर्षों से बंद पड़े फर्टिलाइजर प्लांट को 22 जुलाई, 2016 को  दोबारा शुरू किया गया

डिब्रूगढ़ रिफाइनरी

25 वर्षों से लटके पड़े इस रिफाइनरी को पीएम मोदी ने 5 फरवरी, 2016 को देश को सौंपा

LEAVE A REPLY