Home नरेंद्र मोदी विशेष पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी दोनों हिमाचल के काम आ...

पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी दोनों हिमाचल के काम आ रहे हैं- प्रधानमंत्री मोदी

562
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि अब वो कहावत गलत साबित हो रही है कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी हिमाचल के काम नहीं आते। पिछले एक साल में हिमाचल प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार ने इतने काम किए कि अब पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी दोनों हिमाचल के काम आ रहे हैं। 

हिमाचल प्रदेश की सरकार के एक साल पूरा होने पर धर्मशाला में आयोजित जन आभार रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने एक ओर केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को गिनाया तो दूसरी ओर भ्रष्टाचार और वादे पर नहीं उतरने के लिए केंद्र की पूर्व यूपीए सरकार समेत दूसरी कांग्रेस सरकारों की आलोचना भी की।       

प्रधानमंत्री ने कहा, “सिर्फ एक साल में जयराम ठाकुर की सरकार ने हिमाचल के गांव-गांव और घर-घर जाने का प्रयास किया है। इसके लिए मैं सरकार को बधाई देना चाहता हूं। आज हिमाचल में किसानों और जवानों की भलाई के लिए कई काम हुए हैं। इसके साथ ही, वोकेशनल ट्रेनिंग और स्किल डेवलपमेंट आदि पर भी बहुत काम हुआ है। सरकार और यहां की जनता ने अपनी मेहनत से उस कहावत को गलत साबित कर दिया है कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी हिमाचल के काम नहीं आते हैं। मेरा विश्वास है कि हिमाचल की सरकार जिस तरह से काम कर रही है, उसके कारण आने वाले कुछ वर्षों में हिमाचल एक ताकत बनकर उभरेगा।”   

पिछली सरकार से 50 हजार करोड़ ज्यादा की मदद

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पुरानी केंद्र सरकार हिमाचल को 21 हजार करोड़ रुपये सालाना देती थी, लेकिन हमारी सरकार ने इसे बढ़ाकर 72 हजार करोड़ रुपये कर दिया। यानी, पहले वाली सरकार से 50 हजार करोड़ रुपये ज्यादा हिमाचल प्रदेश के विकास के लिए हम दे रहे हैं। भारत सरकार को भरोसा है कि यहां इस राशि की पाई-पाई का सही उपयोग होगा। नया हिमाचल बनेगा, उज्ज्वल हिमाचल बनेगा, समृद्ध हिमाचल बनेगा, प्रगति की नई ऊंचाइयों को पार करने वाला हिमाचल बनेगा। यहां की सरकार पर और यहां की जनता पर मुझे पूरा भरोसा है। 

पीएम मोदी ने हिमाचल से पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के संबंधों की चर्चा करते हुए कहा कि हिमाचल में औद्योगिक विकास की संभावना की मजबूत नींव डालने का काम अटल जी की सरकार ने ही किया। हिमाचल सरकार उद्योग और कृषि के विकास के साथ ही दूसरे क्षेत्रों में भी समग्रता से विकास करने की कोशिश कर रही है।   

प्रधानमंत्री ने कहा कि बरसों से हिमाचल के किसानों की समस्या रही है कि उनकी फसल बाजार तक नहीं पहुंच पाती। अब इस मामले पर वैल्यू एडिशन का काम हो रहा है। केंद्र सरकार ने कोका कोला जैसी कंपनियों को भी कहा है कि वे अपने पेय में पांच प्रतिशत नेचुरल फ्रूट जूस मिलाएं। इसको लागू करने के लिए धीरे-धीरे कंपनियां आगे भी आ रही हैं। ऐसा होने पर फलों की खेती करने वाले किसानों के लिए बड़ा मार्केट बनेगा।  

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार नेक्स्ट जेनरेशन इंस्फ्रास्ट्रक्चर पर जोर दे रही है। हिमाचल प्रदेश में भारत सरकार की मदद से हाइवे, रेलवे, बिजली, सोलर सिस्टम और पेट्रोलियम जैसे क्षेत्रों में करीब 26 हजार करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट चल रहे हैं। जब ये काम पूरे होंगे तो वे हिमाचल के जीवन को नई ऊंचाई देंगे। 15 हजार करोड़ रुपये की लागत से चार बड़ी रेललाइन प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। मेरा सपना है कि हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई जहाज में चढ़े। हिमाचल में हवाई यात्रा का बड़ा स्कोप है। उड़ान योजना की शुरुआत भी मैंने हिमाचल से की थी।

प्रधानमंत्री ने कहा, ट्रांसपोर्टेशन और टूरिज्म के माध्यम से ही हिमाचल का ट्रांसफॉर्मेशन किया जा सकता है। हिमाचल के विकास की गाड़ी को इन दो पटरियों पर चलना होगा। इस दिशा में हमारी डबल इंजन की सरकार पूरी कोशिश कर रही है। हिमाचल में 9 हजार करोड़ रुपये की लागत से नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट चल रहे हैं।”

पिछले चार साल में पर्यटकों की संख्या बढ़ी

पर्यटन के क्षेत्र में अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 2013 में 70 लाख विदेशी पर्यटक भारत आए, जबकि 2017 में उनकी संख्या बढ़कर एक करोड़ हो गई। पर्यटकों ने 2013 में भारत में करीब 18 बिलियन डॉलर खर्च किए, जबकि 2017 में 27 बिलियन डॉलर खर्च किए। वर्ष 2013 में भारत में एप्रूव्ड होटल 1200 थे, जबकि 2017 में इनकी संख्या 1800 हो गई। हमने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ई-वीजा शुरू किया ताकि टूरिस्ट आसानी से भारत आ सकें।

हमने लागू की ‘वन रैंक वन पेंशन’     

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछली केंद्र सरकार ने ‘वन रैंक वन पेंशन’ के लिए सिर्फ 500 करोड़ रुपये तय किए थे। मेरी सरकार आने के बाद हमने आकलन किया तो वन रैंक वन पेंशन लागू करने के लिए 12,000 करोड़ रुपये की जरूरत थी। हमने फौजी भाइयों से बात करके चार किस्तों में पूरी राशि अदा कर दी। उन्होंने कहा कि पंजाब और कर्नाटक में कर्जमाफी का वादा करके उसे पूरा नहीं किया जा रहा है।   

पीएम मोदी ने स्वच्छता अभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के लिए हिमाचल की जनता का आभार व्यक्त किया। खुले में शौच से मुक्ति और प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने को लेकर उन्होंने जनता को बधाई दी। उन्होंने हिमाचल के ‘होम स्टे’ स्कीम के तहत 80 हजार से ज्यादा होम स्टे के रजिस्ट्रेशन के लिए जनता को धन्यवाद दिया।  

हिमाचल को ऑर्गेनिक स्टेट बनाने का बीड़ा उठाएं

पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल को जल्द से जल्द ऑर्गेनिक स्टेट बनाने का बीड़ा उठाना चाहिए। एक बार ऑर्गेनिक स्टेट बन गया तो दुनिया का बाजार आपका इंतजार कर रहा है। आयुष्मान योजना की सफलता की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल में वर्ष 2014 में एमबीबीएस की 300 सीटें थी, जो आज बढ़कर 700 हो गई हैं।

भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के संकल्प को दोहराते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ईमानदारी के प्रयास, ईमानदारी की सरकार और ईमानदारी का काम जारी रखने का पूरा प्रयास होगा। उन्होंने कहा कि देश का चौकीदार सो नहीं रहा है, इसलिए चोरों को परेशानी हो रही है।   

देवभूमि है हिमाचल

अपने भाषण की शुरुआत में पीएम मोदी ने हिमाचल प्रदेश को पवित्र देवभूमि बताते हुए मां ज्वाला जी, हिडिंबा देवी और कांगड़ी धाम को याद किया। उन्होंने हिमाचल के साथ अपने पुराने संबंधों को याद करते हुए कहा कि यहां आने पर ऐसा लगता है कि अपनों के बीच आ गया हूं। पीएम मोदी ने कहा कि हिमाचल वीरता और शौर्य की भूमि होने के साथ ही शांति की भी भूमि है। यहां शांति की कोख से वीरता पैदा होती है।     

Leave a Reply