Home नरेंद्र मोदी विशेष यूपीए की तुलना में मोदी सरकार में ज्यादा सुरक्षित हैं मुस्लिम, गृह...

यूपीए की तुलना में मोदी सरकार में ज्यादा सुरक्षित हैं मुस्लिम, गृह मंत्रालय के आंकड़ों से हुआ खुलासा

954
SHARE

गृह मंत्रालय ने सूचना के अधिकार के तहत जो जानकारी दी है उससे खुलासा हुआ है कि मोदी सरकार में अल्पसंख्यक ज्यादा सुरक्षित है। 2—04-14 के यूपीए सरकार के 10 साल में जितने दंगे हुए और जितना जानमाल का नुकसान हुआ, उसकी तुलना में मोदी सरकार में बहुत कम दंगे और जानमाल का नुकसान हुआ।

2004 से 2017 के बीच भारत में सांप्रदायिक संघर्ष की 10399 घटनाएं हुई, इनमें 1605 लोगों की जान चली गई जबकि 30723 घायल हो गए। इनमें सबसे ज्यादा यूपीए वन यानी साल 2004 से 2008 के बीच हुई। इन चार सालों में 3858 दंगे हुए।

यूपीए के दूसरे कार्यकाल यानी साल 2009 से 2013 तक सांप्रदायिक संघर्ष की इससे थोड़ी ही कम यानी 3621 घटनाएं हुई।

मोदी सरकार के 2014 से 2017 तक केवल 2920 सांप्रदायिक तनाव की घटनाएं सामने आई, इनमें नुकसान भी सीमित रहा।

अगर किसी एक साल की बात करें तो लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 2008 में 943 और 2013 में 823 दंगे हुए। 2008 में सबसे ज्यादा 167 लोग मारे गए, जबकि 2004 में 134 और 2009 में 133 लोगों की मौत हुई।

कुल मिलाकर 2004 से 2013 तक हर साल दंगों में औसतन 121.6 लोग मारे जाते रहे जबकि मोदी सरकार में दंगों में मरने वालों की संख्या औसतन 100 से भी कम (97.25) रही। 2014 के बाद से मरने वालों की संख्या लगातार घटती रही।

गृह मंत्रालय से आरटीआई एक्टिविस्ट अमित गुप्ता ने ये सवाल पूछा था

Leave a Reply