Home विचार महबूबा मु्फ्ती ने दिखाया अपना असली रंग, कश्मीर में नये आतंकी पैदा...

महबूबा मु्फ्ती ने दिखाया अपना असली रंग, कश्मीर में नये आतंकी पैदा करने की दी धमकी

365
SHARE

अपनी नाकामियों के कारण सरकार चला पाने में अक्षम साबित हुईं जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती अपने असल रंग में आ गई हैं। सत्ता में रहते हुए उन्होंने जहां पत्थरबाजों और आतंकियों की मदद की वहीं सत्ता से बेदखल होने के बाद खुलेआम आतंकी पैदा करने की धमकी दे रही हैं।

महबूबा मुफ़्ती ने आज कहा कि अगर उनकी पार्टी पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की गई तो जम्मू कश्मीर में अशांति फैला दिया जाएगा और सैयद सलाहुद्दीन और यासीन मलिक जैसे आतंकी फिर से पैदा होंगे। महबूबा ने जम्मू-कश्मीर को एक बार फिर 1990 जैसा बना देने की धमकी भी दी है।

दरअसल महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर अपने उस चरित्र को दिखा दिया है जिसके आरोप उनपर लगते रहे हैं। महबूबा ने कश्मीर को आग के हवाले कर देने की धमकी उस खुन्नस में दी है जिसमें पीडीपी के विधायक उनके नेतृत्व को नहीं मान रहे हैं।

महबूबा का आतंकवादियों के प्रति सॉफ्ट कॉर्नर रहा है और वह लगातार देश विरोध का कार्य करती रही हैं। डीएसपी अयूब पंडित को जब उन्मादी भीड़ ने हिंदू समझकर हत्या कर दी थी तो भी महबूबा मुफ्ती ने इसकी आलोचना नहीं की थी।

सैन्य अफसर फैयाज अहमद की निर्मम हत्या पर भी महबूबा मुफ्ती ने दोहरा मापदंड अपनाया था। उनके राज में आतंकवादियों के शवों का जुलूस निकाला जाता रहा, लेकिन वह चुप रहीं। इतना ही नहीं विवादित जमायत-ए-अहल-ए-हदीस को ईदगाह के निर्माण के लिए श्रीनगर में जमीन भी आवंटित कर दिया था।

महबूबा मुफ्ती ने कश्मीरी पंडितों को घाटी में बसाने के लिए भी कोई कदम नहीं उठाए। उल्टा वह इस तिकड़म में लगी रहीं कि विस्थापित कश्मीरी पंडितों का मुद्दा ही न उठ पाए। वह केंद्र सरकार की योजना लागू करने में अड़चने पैदा कर रही थीं। 

मुख्यमंत्री रहते हुए महबूबा मुफ्ती ने जिस तरह से सिर्फ और सिर्फ कश्मीर घाटी के विकास पर फोकस किया और जम्मू एवं लद्दाख को छोड़ दिया था वह लोगों को कबूल नहीं हो रहा था। जाहिर है महबूबा हर स्तर पर फेल थीं और अब अपनी पार्टी को बचाने में भी नाकाम साबित हो रही हैं।

आरोप हैं कि कठुआ कांड में भी महबूबा मुफ्ती ने पक्षपात किया और हिंदुओं को बदनाम करने के लिए साजिश का साथ दिया। एक मुख्यमंत्री का यह आचरण कई तरह से आपत्तिजनक था। 

LEAVE A REPLY