Home झूठ का पर्दाफाश देश से झूठ बोलने वाले कार्ति चिदंबरम ने मानी विदेश में बैंक...

देश से झूठ बोलने वाले कार्ति चिदंबरम ने मानी विदेश में बैंक अकाउंट होने की बात

57
SHARE

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में माना है कि विदेश में उनका एक खाता है। कार्ति ने कहा कि विदेश में हमारे दो अकाउंट और एक प्रॉपर्टी, कुछ और मिले तो सरकार जब्त कर ले। जाहिर तौर पर यह वित्त मंत्री पी चिदंबरम के उस झूठ को उजागर करती है जिसमें उन्होंने विदेश में संपत्ति होने से इनकार किया था। लेकिन सवाल यह है कि आखिर अब तक पी चिदंबरम और कार्ति चिदंबरम अपनी संपत्ति क्यों छिपाते रहे?

देश गुमराह करने के आरोपी हैं पी चिदंबरम और कार्ति चिदंबरम
कार्ति चिदंबरम ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वह अपनी बेटी का कैंब्रिज विश्वविद्यालय में दाखिला कराने के लिए ब्रिटेन जाना चाहते हैं। उन्होंने कोर्ट में कहा कि वह यह हलफनामा देने को तैयार हैं कि वह वहां किसी बैंक में नहीं जाएंगे। कार्ति ने यह अपील करते हुए कहा कि उन्हें 19 अक्टूबर से 13 नवंबर तक ब्रिटेन जाने की अनुमति दी जाए। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि कार्ति चिदंबरम ने विदेश में अपनी संपत्ति होने की बात देश से क्यों छिपाई। सरकार और जांच एजेंसियों को झूठा साबित करने की कोशिश क्यों की? देश को गुमराह करने का कुत्सित प्रयास कार्ति चिदंबरम ने क्यों किया?

Image result for पी चिदंबरम और कार्ति चिदंबरम

ये है मामला
दरअसल INX मीडिया में हुए विदेशी निवेश के लिए मिले FIPB अप्रूवल में कथित गड़बड़ी पाई गई थी, इसके लिए कार्ति से पूछताछ चल रही है। यह मामला 2007 का है तब कार्ति के पिता पी चिदंबरम वित्त मंत्री थे। सीबीआई ने आईएनएक्स मीडिया को 2007 में विदेश से 350 करोड़ रुपये लेने के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी दिए जाने में कथित अनियमितताओं को लेकर बीते 15 मई को मामला दर्ज किया था। सीबीआई ने आरोप लगाया है कि कार्ति के विदेश मे कई बैंक खाते हैं। इस बाबत सीबीआई ने कोर्ट में सबूत भी पेश किए हैं। गौरतलब है कि सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में आरोप लगाया था कि कथित रिश्वत के मामले में कार्ति ने सबूत के साथ छेड़छाड़ की है।

 

LEAVE A REPLY