Home समाचार कश्मीर भारत का अभिन्न अंग-इजरायल

कश्मीर भारत का अभिन्न अंग-इजरायल

209
SHARE

आतंकवाद और इजरायल की अदावत जगजाहिर है। आतंक को समूल नष्ट करने का संकल्प ले चुका इजरायल का रुख हमेशा की तरह कड़ा है और एक बार फिर उसने अपने वही तेवर दिखाए हैं। इस बार खास यह कि इस बार उसने कश्‍मीर के मुद्दे पर पाकिस्‍तान को सख्‍त संदेश दिया है। गौरतलब है कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इजरायल यात्रा पर गए थे। यही नहीं इजरायल की यात्रा पर जाने वाले वह देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। ऐसे में इजरायल के रुख में ये बदलाव भारत के लिए काफी अहम है।

कश्मीर मुद्दे पर पाक का समर्थन नहीं
इजरायल की शीर्ष अधिकारियों ने कहा है कि वह कश्मीर में चाहे कैसी भी परिस्थिति हो वह इस मुद्दे पर किसी भी सूरत में पाकिस्तान का समर्थन नहीं करेगा। भारत के साथ आतंकवाद से संघर्ष में कंधे से कंधा मिलाकर लड़ने की बात करने वाले इजरायल का यह बयान खासा मायने रखता है क्योंकि अब तक कश्मीर मामले पर वह चुप ही रहा है।Israel, Pakistan, Kashmir, India, integral part, diplomatic relations,इजराइल, पाकिस्तान, कश्मीर भारत,अभिन्न हिस्सा, कूटनीतिक संबंध

पहली बार खुलकर बोला इजरायल
कश्मीर मसले पर अक्सर चुप रहने वाला इजरायल आतंकवाद के मसले पर खुलकर भारत के समर्थन में है। लेकिन 2003 में भारत आए इजरायल के तत्कालीन प्रधानमंत्री ने दिल्ली में जारी बयान में कश्मीर को लेकर कोई बात नहीं कही गई थी। हाल ही में जब देश के पहले पीएम के तौर पर इजरायल जाने वाले नरेंद्र मोदी के साथ साझा बयान में भी इसपर कुछ नहीं बोला गया था।

पीएम मोदी और इजराइल के पीएम नेतन्याहू (फाइल फोटो)

‘कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा’
1990 के दशक के शुरुआती वर्षों में भारत ने इजरायल के साथ अपने पूर्ण कूटनीतिक संबंध स्थापित किए थे। तब से ही इजरायल का यह पक्ष रहा है कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है। हालांकि जानकारों के मुताबिक 2003 में पाकिस्तान के प्रति इजरायल की नीति में थोड़ा बदलाव आया था और उसने पाक को मुस्लिम जगत के एक महत्वपूर्ण देश के तौर पर देखना शुरू किया था।

कश्मीर मुद्दे पर इस्राइल का पाक को करारा जवाब

कश्मीर में आतंकी भेजता है पाकिस्तान
अमेरिकी यहूदी कमिटी की ओर से आयोजित भारतीय पत्रकारों और प्रतिनिधिमंडल के इजरायल दौरे के वक्त भारतीय पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में यह इजरायली अधिकारियों ने ये बात साफ-साफ कही है। दरअसल भारत के लिए पाकिस्तान से सीमा पार आतंकवाद ही सबसे प्रमुख मुद्दा रहा है, जिसके चलते जम्मू-कश्मीर में अक्सर अशांति का माहौल रहता है।

LEAVE A REPLY