Home समाचार दुनिया की 12 सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य योजनाओं में से एक मिशन इंद्रधनुष: ब्रिटिश...

दुनिया की 12 सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य योजनाओं में से एक मिशन इंद्रधनुष: ब्रिटिश मेडिकल जर्नल

191
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने देश के लोगों के स्वास्थ्य चिंताओं को दूर करने के कई कदम उठाए हैं। सरकार ने अनेकों नई नीतियां और कार्यक्रम शुरू किए हैं, जिसका लाभ समाज के अंतिम कतार में खड़े व्यक्ति को भी मिल रहा है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा शुरू की गई महात्वाकांक्षी मिशन इंद्रधनुष योजना को देश ही नहीं दुनियाभर में प्रशंसा मिल रही है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल ने मोदी सरकार की तीव्र मिशन इंद्रधनुष योजना की सराहना की है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल के अगले अंक में ‘मिशन इंद्रधनुष’ के बारे में एक विस्तृत रिपोर्ट प्रकाशित की जाएगी।


ब्रिटिश मेडिकल जर्नल ने महिलाओं और बच्चों के लिए चलाई जा रही दुनिया की 12 सबसे अच्छी योजनाओं में मिशन इंद्रधनुष को स्थान दिया है। स्वास्थ्य संबंधी मामलों वाली अंतर्राष्ट्रीय पार्टनर्स फोरम कॉन्फ्रेंस की अगले महीने नई दिल्ली में होने वाली चौथी बैठक के अवसर पर बीएमजे एक विशेष अंक प्रकाशित कर रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से दिल्ली में 12-13 दिसंबर को आयोजित इस बैठक को प्रधानमंत्री मोदी भी संबोधित करेंगे।

मिशन इंद्रधनुष
बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के मकसद से संपूर्ण टीकाकरण के लिए 25 दिसंबर 2014 को मिशन इंद्रधनुष योजना लॉन्च की गई। मिशन इंद्रधनुष की सफलता से केंद्र सरकार को यूनिवर्सल इम्युनाइजेशन प्रोग्राम (यूआईपी) को मजबूत करने में सहायता मिली है। यह अब 12 वैक्सीन्स को कवर करता है। इनमें जापानी एनसेफ्लाइटिस, रोटा वायरस, पीसीवी और मिजिल्स रुबेला से बचाव के टीके शामिल हैं।

तीव्र मिशन इंद्रधनुष: पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्‍य
पहले सरकार का लक्ष्य 2020 तक देश में पूर्ण टीकाकरण कवरेज को हासिल करना था, अब इसे 2018 तक हासिल करने के लिए मिशन इंद्रधनुष के साथ ही ‘इंटेन्सिफाइड मिशन इंद्रधनुष’ की शुरुआत की गई। पूर्ण टीकाकरण में तेजी लाने और निम्‍न टीकाकरण वाले शहरी क्षेत्रों एवं अन्‍य इलाकों पर अपेक्षाकृत ज्‍यादा ध्‍यान देने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने एक आक्रामक कार्य योजना तैयार की है। इसके तहत सरकार देश के उन इलाकों तक टीकाकरण अभियान को पहुंचा रही है, जहां पहले से चले आ रहे टीकाकरण अभियानों की पहुंच नहीं थी। इस वजह से लाखों बच्चे और गर्भवती महिलाएं टीकाकरण से छूट जाते थे। मोदी सरकार ने दो वर्ष की आयु के प्रत्येक बच्चे और उन गर्भवती माताओं तक पहुंचने का लक्ष्य रखा जो टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत यह सुविधा नहीं पा सके। ‘इंटेन्सिफाइड मिशन इंद्रधनुष’ के चार चरणों को देश के 528 जिलों में पूरा किया जा चुका है। तीन करोड़ 15 लाख से ज्यादा बच्चों का टीकाकरण किया गया है। इसके प्रथम दो चरणों के परिणामस्वरूप एक साल में पूर्ण टीकाकरण कवरेज में 6.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी, जबकि इससे पहले इसमें 1 प्रतिशत की ही वृद्धि हुई थी।

कई मंत्रालयों के बीच समुचित सामंजस्य
तीव्र मिशन इंद्रधनुष की एक विशिष्‍ट खूबी यह है कि इसके तहत अन्‍य मंत्रालयों/विभागों विशेषकर महिला एवं बाल विकास, पंचायती राज, शहरी विकास, युवा मामले, एनसीसी इत्‍यादि से जुड़े मंत्रालयों एवं विभागों के साथ सामंजस्‍य बैठाने पर अपेक्षाकृत ज्‍यादा ध्‍यान दिया जा रहा है। विभिन्‍न विभागों के जमीनी स्‍तर वाले कामगारों जैसे कि आशा, एएनएम, आंगनवाड़ी कर्मचारियों, एनयूएलएम के तहत जिला प्रेरकों, स्‍वयं सहायता समूहों के बीच समुचित सामंजस्‍य तीव्र मिशन इंद्रधनुष के सफल क्रियान्‍वयन के लिहाज से अत्‍यंत आवश्‍यक है।

LEAVE A REPLY