Home समाचार पीएम मोदी और युवराज सलमान की मजबूत होती दोस्ती, भारत को पेट्रोलियम...

पीएम मोदी और युवराज सलमान की मजबूत होती दोस्ती, भारत को पेट्रोलियम हब बनाएगा सऊदी अरब

144
SHARE

पीएम मोदी की अगुवाई में भारत और सऊदी अरब के रिश्ते लगातार मजबूती की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इस रिश्ते का ही नतीजा है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में उतार-चढ़ाव से परेशान लोगों को राहत मिलने वाली है। सऊदी अरब, भारत को पेट्रोलियम हब बनाने पर विचार कर रहा है। इसके लिए सऊदी अरब पेट्रोलियम प्रॉडक्ट्स के डिस्ट्रीब्यूशन और मार्केटिंग क्षेत्र में भी बड़ा निवेश करेगा और भारत की तेल की मांग को पूरा करेगा।

कच्चे तेल की आपूर्ति का क्षेत्रीय केंद्र बनेगा भारत 

सऊदी अरब कच्चे तेल की आपूर्ति के लिए भारत को क्षेत्रीय केंद्र बनाने पर विचार कर रहा है। सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल बिन अहमद अल-जुबेर ने कहा है कि भंडारण सुविधाओं के निर्माण और रिफाइनरी को सुदृढ़ करने में उनका देश अरबों डॉलर निवेश करेगा। दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक सऊदी अरब भारत में पेट्रोलियम प्रॉडक्ट्स के डिस्ट्रीब्यूशन और मार्केटिंग क्षेत्र में भी निवेश करेगा।

भारत में पेट्रोरसायन क्षेत्र का बुनियादी ढांचा होगा मजबूत 

इसके साथ ही सऊदी भारत को पेट्रोरसायन क्षेत्र में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में मदद करेगा। सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान के प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे विदेश मंत्री अल जुबेर ने कहा कि  हम ऐसी ढांचागत सुविधा में निवेश कर रहे हैं जो भारत को पेट्रोलियम उत्पादों के आयात और निर्यात के काबिल बनाएगा।

भारत बढ़ती आर्थिक शक्ति, स्थिर व अवसरों वाला देश- अल-जुबेर

सऊदी अरब के विदेश मंत्री अल-जुबेर ने कहा कि हम भारत को एक बढ़ती आर्थिक शक्ति और एक स्थिर व अवसरों वाले देश के रूप में देख रहे हैं। इसीलिए हम भारत के साथ बेहतर और मजबूत संबंध चाहते हैं। साथ ही जुबेर ने यह भी कहा कि उनका देश भारत की तेल की मांग को पूरा करने को प्रतिबद्ध है और अधिक कच्चा तेल बेचने को तैयार है।

महाराष्ट्र में प्रस्तावित रिफाइनरी में 22 अरब डॉलर का निवेश

सऊदी अरब ने हाल ही में यह घोषणा की कि दुनिया की सबसे बड़ी तेल निर्यातक कंपनी सऊदी अरामको की महाराष्ट्र में 44 अरब डॉलर की लागत से संयुक्त उद्यम के तहत स्थापित होने वाली रिफाइनरी परियोजना में 50 प्रतिशत की भागीदार होगी। यह दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरी होगी जिसका निर्माण एक बार में किया जाएगा। कंपनी इस परियोजना के लिए 50% कच्चे तेल की आपूर्ति करेगी। छह करोड़ टन क्षमता वाली इस रिफाइनरी से सऊदी अरामको को अपने तीन करोड़ टन कच्चे अतिरिक्त तेल का एक सुनिश्चित ग्राहक मिल जाएगा। इस परियोजना में बाकी की हिस्सेदारी इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम की रहेगी।

850 भारतीय कैदियों को रिहा करने का आदेश

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुरोध पर सऊदी अरब ने 850 भारतीय कैदियों को रिहा करने का आदेश दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर इसे बड़ा फैसला बताया।

हज यात्रियों की संख्या बढ़कर हुई 2 लाख

वहीं एक अन्य ट्वीट में रवीश कुमार ने लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुरोध पर सऊदी अरब के युवराज ने भारतीय हज यात्रियों की संख्या को बढ़ाकर 2 लाख कर दिया है। बता दें कि सऊदी अरब ने भारत के लिए आवंटित हज कोटे में करीब 25 हजार की बढ़ोतरी की थी, जिससे यह अब दो लाख हो गया है। पिछले साल 1,75,025 लोग हज पर गए थे।

 

 

LEAVE A REPLY