Home नरेंद्र मोदी विशेष सुरक्षा बल भारत की विकास यात्रा की सुरक्षा करते हैं, इस यात्रा...

सुरक्षा बल भारत की विकास यात्रा की सुरक्षा करते हैं, इस यात्रा को नया विश्वास देते हैं- प्रधानमंत्री मोदी

260
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि किसी संस्था की सुरक्षा में लगे सुरक्षा बल सिर्फ उस संस्था की दीवारों और बिल्डिंग की सुरक्षा ही नहीं करते हैं, बल्कि ये जवान भारत की विकास यात्रा की सुरक्षा करते हैं, इस यात्रा को नया विश्वास देते हैं। पीएम मोदी ने रविवार को गाजियाबाद में आयोजित केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के 50वें स्थापना समारोह को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। इस दौरान प्रधानमंत्री ने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के पथ संचलन की सलामी भी ली और शहीदों को श्रद्धांजलि दी।  समारोह के मुख्य अतिथि के तौर पर उन्होंने कहा कि जब देश दुश्मन पड़ोसी का सामना कर रहा हो और सीमा पार से देश के भीतर हो रहे षड्यंत्रों को शह मिल रही हो, तो सीआईएसएफ जैसे सुरक्षा बलों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो जाती है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “जब पड़ोसी बहुत शत्रुतापूर्ण हो और युद्ध लड़ने की क्षमता नहीं रखता हो और सीमा पार से देश में पड्यंत्र कर रहे तत्वों को शह मिल रहा हो और इस तरह की मुश्किल परिस्थितियों में जब आतंक का भयावह चित्र सामने आए, तब देश और संस्थानों की सुरक्षा सुनिश्चित करना बहुत चुनौतीपूर्ण होता है।”

वीआईपी कल्चर सुरक्षा के लिए संकट

पीएम मोदी ने कहा कि वीआईपी संस्कृति कभी-कभी सुरक्षा संरचना में अवरोध पैदा करती है। सीआईएसएफ को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि बड़े से बड़े वीआईपी की सुरक्षा करना आसान है, लेकिन संस्थान की सुरक्षा करना मुश्किल है, जहां रोजाना करीब 30 लाख लोग आते हैं। कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने विशिष्ट सेवा के लिए छह अधिकारियों और एक जवान को सम्मानित भी किया। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा और संसाधनों की रक्षा करने का काम बेहद मुश्किल काम है, लेकिन आपके शानदार प्रदर्शन के लिए मैं आपको बधाई देता हूं। परेड के शानदार प्रदर्शन के लिए मैं आपको बधाई देता हूं। जिन्होंने पुलिस पदक और राष्ट्रपति पदक जीता है, वह भी बधाई के पात्र हैं। नए भारत की नई और आधुनिक व्यवस्थाओं को सुरक्षित रखने में आपने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सीआईएसएफ स्वतंत्र भारत की सोच की पैदाइश

पीएम मोदी ने सीआईएसएफ को स्वर्ण जयंती के अवसर पर बधाई देते हुए कहा कि सीआईएसएफ देश के संसाधनों की रक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहा है। सीआईएसएफ स्वतंत्र भारत की सोच की पैदाइश है। 50 साल तक लगातार हजारों लोगों ने आवश्यकताओं के अनुसार इसे विकसित किया है। पीएम मोदी ने कहा कि यदि मैं इस समारोह में नहीं आता तो काफी कुछ गंवा देता। किसी एक व्यक्ति की रक्षा करना बहुत आसान है, लेकिन किसी ऐसे इंस्टीट्यूशन की रक्षा करना मुश्किल है, क्योंकि यहां हर चेहरा नया होता है, यहां लाखों लोग आते-जाते हैं। सबका व्यवहार अलग होता है। उन्होंने एक घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि वीआईपी कल्चर कभी-कभी सुरक्षा के लिए खतरा हो जाता है। अगर नागरिक सुरक्षाबलों से सहयोग करें तो यह काम आसान हो जाता है। सीआईएसएफ में बाकी सभी केन्द्रीय बलों की तुलना में बेटियों की संख्या सबसे ज्यादा है। सुरक्षा और सेवा के जिस भाव के साथ सीआईएसएफ काम कर रहा है, वह सराहनीय है।

पीएम मोदी ने कहा कि आपदा के समय भी सीआईएसएफ का काम बहुत सराहनीय रहा है। केरल में आई बाढ़ में सीआईएसएफ के द्वारा की गई सेवा और सहायता को सराहा गया। सीआईएसएफ ने नेपाल और हैती में भी आपदा के समय राहत और बचाव कार्य किया है, जिसकी पूरी दुनिया में सराहना की गई। पीएम मोदी ने शहीद हुए सीआईएसएफ कर्मियों को याद करते हुए कहा कि उनके सर्वोच्च त्याग के कारण ही हम यहां सुरक्षित हैं।

Leave a Reply