Home गुजरात विशेष गुजरात की बाढ़ पीड़ित जनता नहीं, गुजराती भोजन को मिस कर रहे...

गुजरात की बाढ़ पीड़ित जनता नहीं, गुजराती भोजन को मिस कर रहे हैं कांग्रेसी विधायक

378
SHARE

बेंगलुरु के आलीशान रिजॉर्ट में अय्याशी कर रहे 44 कांग्रेसी MLA गुजराती खाने को बहुत ज्यादा मिस कर रहे हैं। ईगल टॉन गोल्फ रिजॉर्ट में उन्हें साउथ इंडियन डिश परोसा जा रहा है, जिससे उनकी मस्ती का सारा मजा किरकिरा हो जा रहा है। अगर खाने को छोड़ दें तो शायद उन कांग्रेसियों को अपने गुजरात की याद बिल्कुल भी नहीं आ रही है। जबकि उनका राज्य गुजरात इस समय भयंकर बाढ़ की चपेट में है।

इस समय बाढ़ से बेहाल है गुजरात
जानकारी के अनुसार गुजरात की 4.5 लाख से ज्यादा आबादी इस समय भयानक बाढ़ की त्रासदी झेलने को मजबूर है। 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, करीब 40 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना पड़ा है। बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये राज्य में सेना, एयरफोर्स के अलावा राष्ट्रीय और राज्य डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स दिन-रात काम में जुटी है। इनकी मदद से करीब 12 हजार लोगों को सुरक्षित बचाया गया है। बाढ़ पीड़ितों तक राहत पहुंचाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार की एजेंसियां युद्धस्तर पर कार्य कर रही हैं। गुजरात की जनता प्रकृति के इस भीषण संकट से उबर आए इसके लिये कोई कोर-कसर नहीं छोड़ा जा रहा है।

गुजराती खाने के स्वाद के लिये तड़प रहे हैं कांग्रेसी MLA
बेंगलुरु के वर्ल्ड क्लास रिजॉर्ट में ठहराए गए कांग्रेसी विधायकों को खाने में मसालेदार साउथ इंडियन खाना परोसा जा रहा है। लेकिन वो अपने मीठे गुजराती व्यंजनों के लिये तड़प रहे हैं। कांग्रेस ने उनके भोग-विलास की कोई कमी नहीं छोड़ी है। लेकिन फिर भी उनका मन गुजराती खाने पर अटका हुआ है। नाश्ते में उन्हें इडली-डोसा परोसा जा रहा है। लेकिन वो थेपला और भाखड़ी के लिये तड़प रहे हैं। भोजन में उन्हें सादा रोटी, दाल और कढ़ी चाहिये। लेकिन उन्हें कर्नाटक का चावल और रागी परोसा जा रहा है। गुजराती खाने के लिये ये विधायक विद्रोह न कर दें, शायद इस डर से कर्नाटक सरकार के मंत्री डी के शिवकुमार ने गुजराती रसोइये के इंतजाम करने का भी भरोसा दिया है। गौरतलब है कि शिवकुमार ही फिलहाल इन कांग्रेसी विधायकों की मेजबानी कर रहे हैं।

डिस्को का लुत्फ उठा रहे हैं कांग्रेसी विधायक
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गुजरात की जनता भले ही बाढ़ से बचने के लिये त्राहि-त्राहि कर रही हो, लेकिन उनके कांग्रेसी जन-प्रतिनिधि मौज-मस्ती में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। रिजॉर्ट में मौजूद तमाम सुख-सुविधाओं से भी जब उनका मन ऊबने लगा है तो उनके लिये अब डिस्को का इंतजाम भी किया गया है। बड़ी बात ये है कि ये वो तमाम जानकारियां हैं जो छन-छन कर बाहर आ रही हैं। कांग्रेसी किलेबंदी के अंदर उनके भोग-विलास के लिये और क्या कुछ इंतजाम किया गया है वो तो वहां ठहरे विधायक और उनके मेजबान ही ज्यादा समझ सकते हैं।

मौज-मस्ती के सारे साधन मौजूद हैं इस रिजॉर्ट में
कहा जा रहा है कि ईगल टॉन गोल्फ रिजॉर्ट नाम के जिस जगह पर गुजरात के कांग्रेसी विधायक इस समय ठहरे हुये हैं उसके मामूली से मामूली रूम के भी एक दिन का किराया 10 हजार रुपये से अधिक है। जानकारी के अनुसार इस होटल में वर्ल्ड क्लास स्विमिंग पूल, वर्ल्ड क्लास स्पा भी मौजूद हैं। कहा जा रहा है कि इस रिजॉर्ट में ऐसी कोई भी सुविधाओं की कमी नहीं है जिसके लिए किसी गेस्ट को यहां से बाहर जाने की जरूरत पड़े।

हर कमरे हैं आलीशान
इस रिजॉर्ट के कमरों के इंटीरियर्स पर नजर डालने पर किसी की भी आंखें चौंधिया जायेंगी। लेकिन यहां ऐसे-ऐसे 100 से भी अधिक लग्जरी कमरे हैं। इन कमरों में 2 रॉयल क्लब सुइट, 3 क्लब सुइट, 42 एग्जीक्यूटिव सुइट और 60 डीलक्स कमरे शामिल हैं। यानी यहां कांग्रेस के 44 विधायकों के ठहरने का मतलब है कि प्रतिदिन कई करोड़ रुपये इन कांग्रेसी विधायकों की अय्याशियों पर उड़ाये जा रहे हैं।

उड़ने के लिये हेलीपैड और मनोरंजन के लिये थियेटर भी
ईगल टॉन गोल्फ रिजॉर्ट की भव्यता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यहां रहने वाले गेस्ट को कहीं जाने के लिये हेलीकॉप्टर की सुविधा भी मौजूद है। या फिर गेस्ट को आसानी से बेंगलुरू के एयरपोर्ट तक लाया और ले जाया जा सकता है। हेलीपैड के अलावा होटल में एक शानदार लग्जरी थियेटर भी है, जहां एक साथ सैकड़ों लोग मनोरंजन कर सकते हैं।

भारत का सबसे अच्छा गोल्फ कोर्स है मौजूद 
यही नहीं मेहमानों के लिये यहां एक 168 एकड़ में फैला 18 होल वाला वर्ल्ड क्लास ईगल्टन गोल्फ कोर्स भी मौजूद है। बताया जाता है कि ये भारत का सबसे बढ़िया गोल्फ कोर्स है। यूं समझ लीजिये जब तक गुजरात की जनता बाढ़ की त्रासदी झेलने को मजबूर रहेगी, उनके कांग्रेसी जन-प्रतिनिधि ऐशो-आराम से जिंदगी काटते रहेंगे। क्योंकि अपनी जनता के प्रति उनके मन की संवेदना ही मर चुकी हैं।

कांग्रेस के नेता ही हैं रिजॉर्ट के मालिक
ये वर्ल्ड क्लास रिजॉर्ट कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार और उनके भाई डीके सुरेश का है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस आलाकमान के लिये इस समय पार्टी अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल को राज्यसभा में भेजना गुजरात की जनता की जरूरतों से ज्यादा अधिक जरूरी है। बताया जा रहा है कि शायद इसीलिये उन्होंने डीके बंधुओं को गुजरात के 44 कांग्रेसी विधायकों को रिजॉर्ट में अय्याशियों में डुबाये रखने का निर्देश दे रखा है।

इस रिजॉर्ट पर लगा है 982 करोड़ का जुर्माना
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बेंगलुरु के पास जिस आलीशान रिजॉर्ट में गुजरात के कांग्रेस विधायकों को रोक कर रखा गया है, उससे 982 करोड़ रुपये बतौर जुर्माना वसूला जाना है। बड़ी बात है कि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार को विधायकों को यहां पहुंचने से दो दिन पहले ही इस तरह का आदेश देना पड़ा। इसके पीछे का कारण ये बताया जा रहा है कि ये रिजॉर्ट 77 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण करके बनाया गया है। इसी के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को उससे जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया है।

इसके अलावा होटल में अय्याशी के तमाम और सुख सुवाधाएं भी मौजूद हैं। लेकिन फिलहाल गुजरात के 44 कांग्रेस विधायकों को अपने कब्जे में रखने के लिये रिजॉर्ट में 8 अगस्त तक बाकी गेस्ट की एंट्री बंद कर दी गई है। अभी छुट्टियां आने वाली हैं, ऐसे में माना जा रहा है कि जिन लोगों ने यहां के लिये बुकिंग रखी है, उन्हें अपनी बुकिंग कैंसिल कराने के अलावा कोई चारा नहीं है। शायद यही कारण है कि लोग कहने लगे हैं कि कांग्रेस की संस्कृति ही अय्याशी की है, बड़े नेता इटली से लेकर बैंकॉक तक में छुट्टियां मनाने जाते हैं, तो गुजराती विधायकों के लिये भारत में ही ऐसे ऐशो-आराम का इंतजाम कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY