Home समाचार पीएम मोदी का कमाल, निर्यात में भारत ने लगाई लंबी छलांग

पीएम मोदी का कमाल, निर्यात में भारत ने लगाई लंबी छलांग

765
SHARE

अर्थव्यवस्था में वैश्विक मंदी के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में देश की अर्थव्यवस्था में लगातार सुधार हो रहा है। नोटबंदी के असर से अप्रभावित भारत की 7 प्रतिशत से ज्यादा आर्थिक वृद्धि दर है। वहीं जीएसटी लागू होने की दहलीज पर खड़े देश के व्यापार संतुलन में भी सुधार देखने को मिल रहा है और लगभग सभी क्षेत्रों के निर्यात में बड़ी बढ़ोतरी हुई है। पेट्रोलियम उत्पादों के निर्यात में 69 प्रतिशत की छलांग वहीं इंजीनियरिंग सामानों के निर्यात में 47 का उछाल आया। मार्च में देश के निर्यात में 27.59 फीसदी की तेजी आई, जो पिछले पांच साल में सर्वाधिक वृद्धि है।  वहीं आयात में भी सांकेतिक ही सही कमी आई है। लेकिन आयात में ये सांकेतिक कमी भी देश की अर्थव्यवस्था की नई मजबूती को बताने के लिए काफी हैं। 

व्यापार संतुलन में सुधार
वित्तीय वर्ष 2015-16 की तुलना में इस वर्ष व्यापार संतुलन में सुधार हुआ है। ये सुधार देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छे संकेत माने जा रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2015-16 की तुलना में 2016-17 में व्यापार घाटे में 14.49 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। वहीं 9 प्रतिशत की वृद्धि के साथ निर्यात के क्षेत्र में भी पॉजिटिव संकेत हैं। दूसरी तरफ निर्यात में 0.17 प्रतिशत की गिरावट देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा माना जा रहा है।

वर्ष 2015-16 के 54287.53 मिलियन अमरीकी डॉलर से घटकर 46420.55 मिलियन अमरीकी डॉलर होने का अनुमान है। वहीं निर्यात में भी सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है। मार्च 2017 में यूएस डॉलर 29.23 अरब के निर्यात में 27.5 9% की उच्च सकारात्मक वृद्धि दर दर्ज की गई है।

निर्यात में सकारात्मक वृद्धि
इधर मार्च 2017 के महीने के व्यापार आंकड़े संकलित कर लिए गए हैं। 2016-17 के दौरान कुल निर्यात 274.65 अरब अमरीकी डॉलर मूल्य का रहा है जो 2015-16 की तुलना में 4.71% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज कर रहा है। मूल्य के संदर्भ में देखें तो यह अप्रैल 2014 से दर्ज किए गए उच्चतम निर्यात है।

मार्च, 2017 के दौरान यूएस डॉलर 39.67 अरब के आयात में 45.25% की उच्च सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई। 2016-17 के दौरान कुल आयात 380.37 अरब अमरीकी डॉलर के मूल्य के साथ 2015-16 की 381.01 बिलियन डॉलर की तुलना में 0.17% की नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है।
वहीं मार्च 2017 में व्यापार घाटा 10.44 अरब अमरीकी डॉलर के बराबर है, जो मार्च 2016 में यूएस डॉलर 4.40 अरब के आंकड़ों की तुलना में 137% से अधिक की सकारात्मक वृद्धि है।

आयात में 0.17 प्रतिशत की कमी
मार्च 2016 में यूएस डॉलर 27.31 बिलियन के मुकाबले मार्च 2017 के लिए आयात 39.67 अरब डॉलर है। जाहिर है 45.25% की वृद्धि दर का सकारात्मक दर दिखा रहा है। अप्रैल 2016 से मार्च 2017 तक यूएस डॉलर 380.37 अरब के दौरान संचयी आयात में 2015-16 की इसी अवधि की तुलना में 0.17% की नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है।

गैर-सोना, गैर-पेट्रोलियम आयात मार्च 2017 में अमरीकी डॉलर 25.78 बिलियन अमरीकी डॉलर की तुलना में गैर-सोना की तुलना में सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई जो कि 19.8% के करीब है। जबकि मार्च 2016 में गैर-पेट्रोलियम आयात यूएस डॉलर 21.51 बिलियन था।

निर्यात बढ़ोतरी से पॉजिटिव संकेत
मार्च 2012 में 22.91 अरब अमेरिकी डॉलर की तुलना में मार्च 2017 में निर्यात 29.23 अरब डॉलर रहा, जिसमें 27.6% की वृद्धि दर सकारात्मक रही।

अप्रैल 2016 से मार्च 2017 के दौरान अमेरिकी डॉलर 274.65 अरब के दौरान संचयी निर्यात 4.71% की तुलना में अधिक है, जो 2015-16 की इसी अवधि में यूएस डॉलर 262.29 बिलियन के मुकाबले अधिक है। उधर मार्च 2017 में यूएस डॉलर 25.53 बिलियन गैर-पेट्रोलियम निर्यात में 23.2% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई है।

मार्च 2017 के मार्च 2012 में निर्यात 22.91 अरब अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 29.23 अरब डॉलर है, जो 27.6% की वृद्धि दर का सकारात्मक दर दर्ज है। अप्रैल 2016 से मार्च 2017 के दौरान अमेरिकी डॉलर 274.65 अरब के दौरान संचयी निर्यात 4.71% की तुलना में अधिक है, जो 2015-16 की इसी अवधि यूएस डॉलर 262.29 बिलियन के मुकाबले अधिक है।

मार्च 2016 में यूएस डॉलर 25.53 बिलियन गैर-पेट्रोलियम निर्यात ने मार्च 2017 में 23.2% की सकारात्मक वृद्धि दर्ज की थी, जबकि मार्च 2016 में यह 20.72 अरब अमेरिकी डॉलर थी। अप्रैल 2016 से मार्च 2017 यूएस डॉलर 243.81 बिलियन अमरीकी डॉलर के दौरान गैर-पेट्रोलियम निर्यात का संचयी मूल्य अप्रैल 2015 से मार्च 2016 यूएस डॉलर 231.71 बिलियन के दौरान गैर-पेट्रोलियम निर्यात के मुकाबले 5.22% अधिक है।

 

LEAVE A REPLY