Home विपक्ष विशेष मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए कांग्रेस ने लगाए झूठे आरोप,...

मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए कांग्रेस ने लगाए झूठे आरोप, देखिए झूठ का पर्दाफाश करती ये रिपोर्ट

152
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विरोध में कांग्रेस पार्टी अब झूठे आरोप लगाने पर उतर आई है। अब कांग्रेस पार्टी ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की सांसद निधि के पैसों को लेकर झूठ बोला है। कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाया है कि स्मृति ईरानी ने सांसद निधि के पैसों से गुजरात के आणंद जिले में जो कार्य कराए हैं, उनके लिए बिना टेंडर के अपने चहेतों को ठेका दिलवाया है। इस प्रकार स्मृति ईरानी ने करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी की है।

सबसे पहले आपको बता दें कि हर सांसद के प्रति वर्ष पांच करोड़ रुपये अपने क्षेत्र में विकास पर खर्च करने के लिए मिलते हैं। सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी एमपी लैड की इस रकम को तमाम विकास योजनाओं में खर्च किया है। कांग्रेस प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल और रणदीप सुरजेवाला का आरोप है कि स्मृति ईरानी ने आणंद जिले में सांसद निधि के तहत कराए जाने वाले कार्यों को शारदा मजदूर सहकारी समिति से कराने का दबाव डाला था। उन्हीं के कहने पर बगैर टेंडर की प्रकिया के इस संस्था को 2014 से 2017 के बीच लाखों रुपये का अवैध भुगतान किया गया।

परफॉर्म इंडिया ने अपनी पड़ताल में पाया है कि कांग्रेस द्वारा लगाए आरोप सरासर झूठे और बेबुनिया हैं। परफॉर्म इंडिया के पास केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा जारी किए गए कई पत्र हैं, जिमने उन्होंने आणंद जिले के अधिकारियों को साफ निर्देश दिया है कि उनकी सांसद निधि से माघरोल गांव में जो भी विकास कार्य कराए जा रहे हैं, उनका ठेका गुजरात सरकार के उपक्रम गुजरात राज्य ग्रामीण विकास निगम लिमिटेड को दिया जाए।

 

 

 

मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए लगाए गए झूठे आरोपों को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने कांग्रेस पार्टी को जमकर धोया है।

LEAVE A REPLY