Home समाचार भारत ने चीन को पीछे छोड़ा, आईसीएफ बनी विश्व की सबसे बड़ी...

भारत ने चीन को पीछे छोड़ा, आईसीएफ बनी विश्व की सबसे बड़ी रेल फैक्ट्री

295
SHARE

चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) दुनिया की सबसे बड़ी कोच निर्माता फैक्ट्री बन गई है। आईसीएफ ने अब तक सबसे ज्यादा रेल कोच का निर्माण करने वाली चीन की फैक्ट्री को पीछे छोड़ दिया है। आईसीएफ ने पिछले साल अप्रैल से फरवरी तक 2,085 कोच का निर्माण किया था, जिसमें इस साल 40 प्रतिशत का उछाल आया है। आईसीएफ ने सिर्फ फरवरी के महीने में 301 कोचों का निर्माण किया है।

चीन की फैक्ट्री ने इस साल लगभग 2600 रेल कोच का निर्माण किया है। उम्मीद है कि मार्च में इस वित्त वर्ष के खत्म होने तक आईसीएफ में 3,200 से ज्यादा रेल कोच का निर्माण पूरा हो जाएगा। इससे पहले 2017 में चेन्नई इंटीग्रल कोच फैक्ट्री ने 1,976 रेल कोच का ही निर्माण किया था। देश की सबसे तेज ट्रेन वंदे भारत के कोच का निर्माण भी आईसीएफ में ही किया गया है। इसके साथ ही तेजस के वैगन भी यहीं बने हैं। आईसीएफ के अलावा देश में पांच अन्य रेल कोच फैक्ट्रियां भी हैं, जहां तेज गति से काम चल रहा है।

चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री के साथ रायबरेली स्थित मॉडर्न कोच फैक्ट्री ने भी अपना उत्पादन बढ़ा दिया है। यहां सिर्फ फरवरी में 143 रेल कोच बनाए गए। वर्ष 2018-19 में अब तक 1,283 रेल कोच का निर्माण हो चुका है। प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में उत्तर प्रदेश में रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री से बनकर निकले 900वें रेल डिब्बे को हरी झंडी दिखाकर रवाना भी किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने बताया कि मुझे गर्व हो रहा है कि आने वाले समय में रायबरेली रेल कोच के निर्माण में एक ग्लोबल हब बनने वाला है। नई और आधुनिक मशीनों को लगाने का काम भी तेजी से हो रहा है। इसी का नतीजा है, पिछले वर्ष इस कोच फैक्ट्री से 711 नए डिब्बे बनकर निकले। 2-3 वर्ष में नए कोच बनाने की इसकी क्षमता 3000 तक पहुंच जाएगी। सरकार का प्रयास इसे 5000 कोच प्रति वर्ष तक ले जाने का है। उन्होंने कहा कि अब जो काम हो रहा है, वह इसे भारत की ही नहीं दुनिया की सबसे बड़ी रेल कोच फैक्ट्री बना देगा।

LEAVE A REPLY