Home केजरीवाल विशेष केजरीवाल के पूर्व कानून मंत्री की डिग्री रद्द

केजरीवाल के पूर्व कानून मंत्री की डिग्री रद्द

740
SHARE

अरविंद केजरीवाल सरकार में कानून मंत्री रहे जितेंद्र सिंह तोमर की डिग्री को रद्द कर दिया गया है। सोमवार को बिहार के भागलपुर जिले में स्‍थ‍ित तिलकामांझी भागलपुर यूनिवर्सिटी ने सीनेट की बैठक में इस पर मुहर लगा दी। बताया जा रहा है कि दिसंबर में परीक्षा बोर्ड की बैठक में ही इस बात पर सहमति बन गयी थी कि तोमर की डिग्री को रद्द किया जाएगा। तोमर पर केजरीवाल सरकार में कानून मंत्री रहते यह आरोप लगा था कि उनका प्रमाण पत्र फर्जी है और उसका कोई रिकार्ड संस्थान के पास नहीं है।

तोमर की फर्जी डिग्री मामले में हौजखास थाने की पुलिस ने विश्वविद्यालय के 17 कर्मचारियों के खिलाफ बुधवार 16 मार्च को 50 हजार पन्ने की चार्जशीट दाखिल की। चार्जशीट साकेत कोर्ट दक्षिण जिला दिल्ली कोर्ट में दाखिल की गई है। इसमें तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के अलावा विश्वनाथ सिंह विधि महाविद्यालय के पदाधिकारियों के नाम हैं। दिल्ली पुलिस जल्द ही कोर्ट की अनुमति लेकर दोषी कर्मियों की गिरफ्तारी के लिए भागलपुर जाने वाली है।

क्या है मामला
पूर्व कानून मंत्री ने दावा किया था कि उन्होंने 1994-97 के दौरान मुंगेर के विश्वनाथ सिंह लॉ कॉलेज से पढ़ाई की। बाद में पता चला कि विश्वविद्यालय कर्मचारियों की मिलीभगत से फर्जी रजिस्ट्रेशन कराकर तोमर को कानून की डिग्री दी गई। डिग्री लेते समय माइग्रेशन सर्टिफिकेट और मार्कशीट जमा करने पड़ते हैं। लेकिन तोमर के जमा किए गए दोनों सर्टिफिकेट अलग-अलग विश्वविद्यालयों के हैं। मार्कशीट अवध विश्वविद्यालय फैजाबाद और माइग्रेशन सर्टिफिकेट बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी के हैं।

LEAVE A REPLY