Home समाचार एंटनी ने माना- कांग्रेस में नहीं है बीजेपी से अकेले लड़ने की...

एंटनी ने माना- कांग्रेस में नहीं है बीजेपी से अकेले लड़ने की ताकत

119
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जलवा कायम है और वह देशवासियों के दिलों पर राज करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी देश के सबसे पसंदीदा नेता हैं। तमाम सर्वे में कहा जा रहा है कि नरेन्द्र मोदी पर मतदाताओं का भरोसा कायम है। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी ने भी स्वीकार कर लिया है कि कांग्रेस में बीजेपी से अकेले लड़ने की ताकत नहीं है। केरल के तिरुवनंतपुरम में प्रदेश कांग्रेस कमिटी की आमसभा में एंटनी ने कहा कि कांग्रेस अपने अकेले दम पर नरेन्द्र मोदी को सत्ता से नहीं हटा सकती। हालांकि लोकसभा चुनाव में मोदी के खिलाफ कांग्रेस बड़ा चेहरा होगी। इसलिए बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस एक बड़े गठबंधन की तलाश कर रही है।

2024 तक हराना मुश्किल-प्रकाश अंबेडकर
इसके पहले दलित नेता प्रकाश अंबेडकर ने भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि साफ-सुथरी है और कांग्रेस 2024 तक बीजेपी को सत्ता से हटा नहीं सकती। उन्होंने साफ कहा कि कांग्रेस श्री मोदी की छवि का मुकाबला नहीं कर सकती। प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि एक नेता के तौर पर प्रधानमंत्री मोदी की साफ-सुथरी छवि अब तक कायम है। प्रधानमंत्री मोदी अपने भाषणों में कांग्रेस के दागदार अतीत की बातें करते हैं जिसका मुकाबला नहीं किया जा सकता। कांग्रेस 2024 तक बीजेपी को नहीं हरा सकती।

मोदी विरोध में विपक्षी एकता Myth है !
इससे पहले यूपी चुनाव के बाद उमर अब्दुल्ला ने साफ कहा था कि विपक्षी एकता के ख्वाब देखने वाले 2019 का सपना देखना छोड़ दें और 2024 की तैयारी करें। इसके बाद उन्होंने एक ट्वीट में मोदी के विरुद्ध विपक्षी एकता को Myth करार दिया। हालांकि उनकी बात विरोधी दलों को रास नहीं आई थी। लेकिन उमर अब्दुल्ला अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं, सो पीएम मोदी की तारीफ भी उन्होंने खुलकर की।

पीएम मोदी के दम खम से डरे वामपंथी !
वामपंथियों को बीजेपी और पीएम मोदी का धुर विरोधी माना जाता है, लेकिन पिछले साल 3 अगस्त को वामपंथी नेता प्रकाश करात ने माकपा के मुखपत्र ‘पीपुल्स डेमोक्रेसी’ के संपादकीय में पीएम मोदी की कार्यशैली और नेतृत्व क्षमता की तारीफ की। उन्होंने लिखा, “मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस वर्षों के अपने कुशासन और भ्रष्टाचार की वजह से बदनाम हो चुकी है, इसलिए वामपंथी और लोकतांत्रिक ताकतें देश की सबसे पुरानी पार्टी से गठबंधन करके भाजपा को रोकने की उपलब्धि नहीं हासिल कर सकती है।” उन्होंने कांग्रेस के साथ अन्य क्षेत्रीय दलों को भी कमजोर बताते हुए लिखा है कि अलग-अलग चरित्र वाली धर्मनिरपेक्ष पार्टियां गठबंधन बनाकर भी भाजपा के रथ को नहीं रोक सकती।

मुझसे बहुत बड़े नेता हैं पीएम मोदी-देवगौड़ा
”मैं 85 वर्ष का हूं और दोबारा प्रधानमंत्री बनने की मेरी महत्वाकांक्षा नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुझसे बहुत बड़े नेता हैं।” The Economic Times में छपे इस इंटरव्यू में पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा  पहले भी ये स्वीकार कर चुके हैं कि पीएम मोदी से बड़ा नेता आज देश में नहीं है। दरअसल वर्तमान भारतीय राजनीति में पीएम मोदी वो चेहरा हैं जिनके आस-पास कोई अन्य नेता खड़ा हो पाने की हैसियत नहीं रखता है। सवा सौ करोड़ देशवासियों की आशा और आकांक्षा के प्रतीक बने पीएम मोदी महिलाओं, युवाओं के मन-मस्तिष्क पर तो छा ही चुके हैं, साथ ही देश के बाल मन पर भी अपनी अमिट छाप छोड़ चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले साढ़े चार वर्षों में अपनी नीतियों और योजनाओं से सभी को आकर्षित किया है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश दिन दूनी रात चौगुनी रफ्तार से प्रगति कर रहा है। अर्थव्यवस्था, रोजगार, महिला सम्मान, किसान कल्याण, इंफ्रास्ट्रक्चर, शिक्षा, स्वास्थ्य सभी क्षेत्रों में भारत आज मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है। जाहिर है यह सब प्रधानमंत्री मोदी के विजन से संभव हो रहा है। यही वजह है कि आज पीएम मोदी का हर कोई कायल है।

LEAVE A REPLY