Home समाचार देश में कई क्षेत्रों आ चुके हैं अच्छे दिन, अगले वर्ष तक...

देश में कई क्षेत्रों आ चुके हैं अच्छे दिन, अगले वर्ष तक और भी अच्छी होगी सूरत

459
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2014 में देश की जनता से 5 वर्षों में अच्छे दिन लाने का वादा किया था। आज कई क्षेत्रों में उस कल्पना को धरातल पर महसूस किया जा सकता है। मोदी सरकार के इस कार्यकाल को अभी एक साल और बचे ही हुए हैं। ऐसे में जो संभावनाएं नजर आ रही हैं, उससे लगता है कि 2019 आते-आते भारत में परिवर्तन की तस्वीर और भी स्पष्ट होगी। यही कारण है कि कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट भी भारत में बदलाव की इस कहानी पर मुहर लगा रही हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने की पीएम मोदी के अभियान की तारीफ
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुरू से इस बात की गंभीरता पर जोर देते रहे हैं कि देश में खाना पकाने के दौरान जिन महिलाओं को धुएं का सामना करना पड़ता है, उनके फेफड़े में प्रतिदिन लगभग 400 सिगरेट के बराबर धुआं पहुंचता है। अब विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट में भारत में विशेषकर महिलाओं और बच्चों को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए मोदी सरकार की जमकर तारीफ की गई है। एक मई, 2016 को शुरू हुए प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत अबतक 3,76,05,613 करोड़ बीपीएल महिलाओं के बीच एलपीजी कनेक्शन बांटे जा चुके है। इस योजना ने देश के 712 जिलों को कवर कर लिया है।

GST ने बदली टैक्स कलेक्शन की सूरत,भरने लगा है खजाना
मोदी सरकार ने 1 जुलाई, 2017 से देशभर में एक अप्रत्यक्ष कर यानि जीएसटी लागू किया था। 9 महीने बाद पहली बार इसके कलेक्शन का आंकड़ा 1 लाख करोड़ को पार कर गया है। वित्त मंत्रालय के अनुसार अप्रैल,2018 में जीएसटी से 1,03,458 करोड़ रुपये जमा हुए हैं। इसमें सेंट्रल जीएसटी 18,652 करोड़ और स्टेट जीएसटी 25,704 करोड़ रुपये शामिल है। वहीं आईजीएसटी से 50,548 करोड़ रुपये की कमाई हुई है। जबकि सेस के माध्यम से 8,554 करोड़ रुपये जुटाए गए हैं।

मोदी सरकार की नीतियों से रोजगार क्षेत्र में बहार
नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने कहा है कि अकेले प्रधानमंत्री मुद्रा योजना से देश में 3.5 करोड़ नौकरियां पैदा हुई हैं। इससे पहले कर्मचारी भविष्य निधि संगठन और नेशनल पेंशन सिस्टम ने पहली बार पेरोल डाटा रिलीज किया, जिसके मुताबिक सितंबर, 2017 से फरवरी, 2018 के बीच यानि मात्र 6 महीनों में 31 लाख 10 हजार लोगों को नई नौकरियां मिली हैं। जबकि भारतीय स्टेट बैंक की एक स्टडी से पता चलता है कि साल 2017-18 में देश में करीब 67 लाख नई नौकरियां का सृजन हुआ है। भारतीय रेलवे में 1.10 लाख नई नौकरियां देने की प्रक्रिया भी अलग से चल रही है। देश में रोजगार की स्थिति पर मुहर लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष भी कह चुका है कि मोदी सरकार के प्रयासों के चलते भारत में रोजगार के अवसर और बढ़ेंगे।

अब देश का हर गांव हुआ रौशन
28 अप्रैल, 2018 को शाम 5.30 बजे का समय देश के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गया। मणिपुर के लाइसंग गांव में बिजली पहुंचाने के साथ मोदी सरकार ने देश की जनता से किया अपना बहुत बड़ा वादा पूरा कर दिखाया। 1,000 दिन में देश के हर गांव में बिजली पहुंचाने का संकल्प प्रधानमंत्री मोदी ने लिया था, जिसे उनकी सरकार ने समय से पहले यानि 987 दिन में ही पूरा कर लिया। देश के कुल 18,452 गांवों में आजादी के बाद से बिजली नहीं पहुंची थी। इसके लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना शुरू की गई थी, जिसके तहत अब देश के सभी 5,97,464 गांव रौशन हो चुके हैं।

31 दिसंबर तक देश के हर घर में होगी 24×7 घंटे बिजली
देश के सभी गांवों में बिजली पहुंचाने के बाद मोदी सरकार इस साल 31 दिसंबर तक देश के हर घर तक बिजली पहुंचाने के संकल्प के साथ तेजी से काम कर रही है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की सफलता से उत्साहित सरकार ‘सौभाग्य योजना’ को पूर्ण करने के लिए भी पूरी तरह समर्पित है। यही नहीं मोदी सरकार बिजली से वंचित देश के 4 करोड़ घरों तक सहज बिजली हर घर योजना यानि ‘सौभाग्य ‘ के लक्ष्य को पूरा करने के साथ 31 दिसंबर, 2018 तक ‘सभी के लिए 24×7 बिजली’उपलब्ध कराने के संकल्प के साथ भी चल रही है। ‘सौभाग्य योजना’ का उद्देश्य हर गरीब, चाहे वो शहरों में रहते हों या गांव में, उनके घरों को रौशन करना है।

LEAVE A REPLY