Home केजरीवाल विशेष छेड़खानी में फंसे एक और आप विधायक, देखिए केजरीवाल के अय्याश नेताओं...

छेड़खानी में फंसे एक और आप विधायक, देखिए केजरीवाल के अय्याश नेताओं की करतूत

207
SHARE

दिल्ली के विवादास्पद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से भय मुक्त, अपराध मुक्त और एक संवेदनशील सरकार देने का वादा किया था। लेकिन सरकार बनने के बाद आम आदमी पार्टी के मंत्री और विधायक रेप, मारपीट, रंगदारी और भ्रष्टाचार जैसे अपराध के दलदल में फंसते चले गए। ताजा मामला देवली विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रकाश जारवाल का है। प्रकाश जारवाल पर एक महिला ने छेड़खानी और धमकी देने का आरोप लगाया है। महिला ने संगम विहार थाने में विधायक के खिलाफ छेड़खानी, अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने और धमकी देने की शिकायत दर्ज कराई है। महिला का कहना है कि 9 जुलाई की रात प्रकाश जारवाल ने घर में घुसकर उसके कपड़े खींचे और बदतमीजी की। देवली के इस विधायक पर इसके पहले 2 जून 2016 को भी बदसलूकी और छेड़खानी का आरोप लग चुका है। 

आम आदमी पार्टी के कई विधायकों पर इस तरह के संगीन आरोप लग चुके हैं और कई तो जेल की हवा भी खा चुके हैं। आप भी देखिए केजरीवाल के नेताओं की करतूत-

केजरीवाल बोले समझौता कर लो
दिल्ली के मुख्यमंत्री महिलाओं के मुद्दे पर कितने संवेदनशील है इसका अंदाजा इससे लगता है कि उन्होंने यौन उत्पीड़न के एक मामले में पीड़िता को समझौता करने के लिए कहा था। नरेला से आप कार्यकर्ता सोनी ने मौत से पहले पार्टी के ही एक कार्यकर्ता रमेश भारद्वाज पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। महिला का कहना था कि रमेश भारद्वाज की शिकायत लेकर वह मुख्यमंत्री से भी मिली थी, मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। उसने केजरीवाल पर आरोप लगाया कि उन्होंने भारद्वाज से समझौता करने को कहा। अरविन्द ने कहा था कि बैठकर बात कर लो, रमेश माफी मांग लेगा। महिला ने आरोप लगाया कि रमेश शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डालता था। वह कहता था कि राजनीति में ऊपर जाने के लिए समझौता करना पड़ता है। 

शरद चौहान को जाना पड़ा जेल
सोनी मामले में आम आदमी पार्टी के विधायक शरद चौहान को जेल भी जाना पड़ा क्योंकि सोनी ने उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया था। सोनी ने विधायक शरद चौहान पर रमेश भारद्वाज को संरक्षण देने का आरोप लगाया था।

जब दिल्ली के कानून मंत्री ने दिखाया कानून को ठेंगा
दिल्ली सरकार में कानून मंत्री सोमनाथ भारती अपने ही घर में कानून की धज्जियां उड़ाते रहे। खुद उनकी पत्नी लिपिका मित्रा उनसे खौफ खाती रही। पत्नी ने प्रेग्नेन्सी के दौरान अपने ऊपर कुत्ता छोड़ने और प्राइवेट पार्ट पर कुत्ते से कटवाने का आरोप भी अपने पति पर लगाया। क्रूरतम अत्याचार का ये उदाहरण है जिसे दुनिया को उन्हीं की पत्नी ने बताया है। लिपिका का दावा है कि दो बार उनकी जान लेने की कोशिश की गयी। एक बार तो बच्चे के सामने उनकी नस खुद पति सोमनाथ भारती ने काट दी थी।

सोमनाथ भारती पर आरोपों का सिलसिला कम होने के बजाए बढ़ता चला गया। 2014 में मालवीयनगर के खिड़की एक्सटेंशन इलाके में अफ्रीकी मूल की महिलाओं के घर भीड़ के साथ पहुंचकर छापा मारा, इस दौरान माहिलाओं के साथ भीड़ ने छेड़छाड़ किया। 

महिला कल्याण मंत्री संदीप कुमार का कारनामा
दिल्ली सरकार में महिला कल्याण मंत्री संदीप कुमार ने तो ऐसा कारनामा कर डाला कि केजरीवाल सरकार मुंह दिखाने लायक नहीं रह गयी। एक ऐसी सीडी सामने आयी जिसमें संदीप कुमार महिलाओं के साथ अंतरंग अवस्था में थे। जब हंगामा बरपा और सीडी के पीछे का सच परत दर परत सामने आने लगा तो लोग चकित रह गये।

सीडी में दिखी महिला ने सुल्तानपुरी थाने पहुंचकर केस दर्ज कराया कि उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीली चीज पिलाकर तब बेहोश कर दिया गया, जब वो राशनकार्ड बनवाने मंत्री के दफ्तर पहुंची थी और उसके बाद वारदात को अंजाम दिया गया। 

मंत्रीजी की सीडी मुख्यमंत्री केजरीवाल के साथ-साथ न्यूज चैनलों को 31 अगस्त 2016 को पहुंचती है। सरकार की इज्जत बचाने के लिए केजरीवाल संदीप कुमार को बर्खास्त कर देते हैं।

दूसरे दिन एक सितम्बर को आप के प्रवक्ता और पत्रकार आशुतोष ने एनडीटीवी.काम पर अपने ब्लॉग में संदीप कुमार का पक्ष लेते हुआ लिखा कि यह दो व्यक्तियों का निजी मामला है। यदि यह सहमति के साथ होता है तो इसमें कोई अपराध नहीं है।

इस मुद्दे पर पार्टी के अंदर क्या सोच थी और पार्टी किस अंतर्द्वंद से गुजर रही थी इसका अंदाजा आशुतोष का ब्लॉग देता है। आशुतोष को इस ब्लॉग लिए महिला आयोग के सामने भी पेश होना पड़ा।

नये कानून मंत्री दिनेश मोहनिया भी पहुंचे जेल
सोमनाथ भारती के बाद दिल्ली सरकार के कानून मंत्री दिनेश मोहनिया भी कानून की जद में आ गये। उन पर महिला से बदसलूकी का आरोप लगा। दिनेश मोहनियां पर न सिर्फ एक महिला ने बदसलूकी का आरोप लगाया था, बल्कि एक बुजुर्ग ने भी उनके खिलाफ थप्पड़ जड़ने का आरोप लगाया था। गैरजमानती धाराओं की वजह से दिनेश को तिहाड़ जाना पड़ा।

आप विधायक की दबंगई, दी रेप और हत्या की धमकी
आम आदमी पार्टी के विधायक अमानुल्लाह खान पर उनके ही इलाके में रहने वाली एक महिला ने बलात्कार और हत्या की धमकी देने का आरोप लगाया। जुलाई 2016 में लगे इस आरोप ने सनसनी फैला दी। पुलिस ने अमानुल्लाह खान को गिरफ्तार कर लिया। अमानुल्ला ओखला से आप विधायक हैं।

10 सितम्बर को जामिया नगर थाने में दर्ज करायी गयी प्राथमिकी के अनुसार विधायक शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डाल रहे थे। विधायक पर हमले की कोशिश, शील हरण के लिए बल प्रयोग, आपराधिक धमकी देने, महिला को निर्दयतापूर्वक वश में करने समेत आपराधिक षडयंत्र रचने के आरोप लगे हैं।

नौकरी का झांसा देकर बलात्कार का आरोप
आप नेता रमन स्वामी पर संगीन इल्जाम लगा कि उन्होंने शादीशुदा महिला के साथ बलात्कार किया। महिला ने नेताजी पर दोस्ती के बाद नौकरी दिलाने का झांसा देने और बलात्कार करने का आरोप लगाया जो मेडिकल परीक्षण में साबित भी हुआ। रमन स्वामी पर 2014 में बलात्कार का केस दर्ज हुआ।

कुमार विश्वास भी आरोपों के घेरे में 
कुमार विश्वास अमेठी में राहुल गांधी और स्मृति ईरानी से चुनाव मैदान में लड़ने की हिम्मत दिखा चुके हैं। लेकिन चुनाव मैदान कब उन्होंने अपने ऐशो-आराम का मौका बना लिया, ये खुद उन्हें मालूम हुआ हो या नहीं लेकिन देश ने तब जाना जब उनकी ही पार्टी की कार्यकर्ता ने उन पर अफवाहों पर चुप्पी साधने का आरोप लगाया। महिला ने कहा कि कुमार विश्वास उन आरोपों का खंडन नहीं कर रहे हैं जिसमें उन्हें बदनाम किया जा रहा है। ये आरोप उस महिला और कुमार विश्वास के बीच अवैध रिश्ते को लेकर लगाए जा रहे थे। 

कांग्रेस प्रत्याशी के घर घुसकर छेड़छाड़
दिल्ली के सीमापुरी से आम आदमी पार्टी विधायक धर्मेन्द्र कोली पर पूर्व कांग्रेस विधायक के घर में घुसकर छेड़छाड़ और दंगा करने के आरोप हैं। कोली के खिलाफ ये आरोप कांग्रेस नेता वीर सिंह धींघन ने लगाए हैं।

उनका कहना है कि विजय जुलूस के दौरान आप विधायक ने उनके घर के सामने शराब की बातलें फोड़ीं और घर में पटाखों की लड़ी लगा लीं। इस दौरान विधायक ने उनकी पत्नी के साथ छेड़छाड़ भी किया। 

मनोज कुमार पर घरेलू हिंसा के आरोप
समाज और देश बदलने निकले आप विधायक से अपना घर ही नहीं सम्भल रहा। पत्नी दो साल से मायके में है लेकिन मसला सुलझाने तक की जरूरत विधायक मनोज कुमार ने कभी नहीं समझी। आखिरकार कोंडली से विधायक मनोज कुमार के खिलाफ उनकी पत्नी ने ही घरेलू हिंसा का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करायी। दिल्ली महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया। महिला का कहना है कि ससुरालवालों के अत्याचार से तंग आकर उसने घर छोड़ दिया था। दो साल से वह अपने मायके में रह रही है। जमीन की धोखाधड़ी के मामले में भी जेल जा चुके हैं मनोज कुमार।

राखी बिड़लान के पिता पर बलात्कार के आरोप
मंगोलपुरी की विधायक राखी बिड़लान पर मारमीट और सरकारी काम में पैसे खाने का तो आरोप है ही, इसके साथ ही उनके पिता और आप के सदस्य राम प्रताप गोयल पर 24 वर्षीया महिला के साथ दुष्कर्म करने का भी आरोप है। वो महिला को एमसीडी चुनाव में टिकट दिलवाने का लालच दिखाकर अपने झांसे में फंसा लेते हैं और एक दिन उस महिला को अपने रोहिणी स्थित सुनसान मकान में ले जाकर उसके साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाते हैं। नबबंर 2016 में पुलिस गिरफ्तार कर लेती हैं।

राजेश ऋषि पर परेशान करने का आरोप
आम आदमी पार्टी के जनकपुरी पश्चिम के विधायक राजेश ऋषि का नाम सुसाइड नोट में लिखकर एक महिला ने आत्महत्या करने का प्रयास किया। घटना 15 जुलाई 2016 की है। महिला ने पुलिस के पास दर्ज शिकायत में भी विधायक का नाम लिया। उसने विधायक राजेश ऋषि और उनके एक साथी पर परेशान करने का आरोप लगाया।

इसे भी पढ़िए-

केजरीवाल के कई ‘लाल’, भ्रष्टाचार, अपराध व हवाला के ‘दलाल’
केजरीवाल से बड़ा झूठा इंसान नहीं देखा- सुभाष चंद्रा
केजरीवाल सरकार – वो सवाल उठाते रहे, हम गुलछर्रे उड़ाते रहे

LEAVE A REPLY